April 21, 2018, 5:23 pm
समान वेतन की मांग को लेकर महिला शिक्षकों ने सिर मुंडाया

समान वेतन की मांग को लेकर महिला शिक्षकों ने सिर मुंडाया

भोपाल। आज दोपहर राजधानी में महिला शिक्षकों ने हैरतअंगेज़ विरोध प्रदर्शन किया। इन महिला शिक्षकों ने पुरुषों के समान वेतन की मांग को लेकर अपने सिर मुंडा लिए। शिक्षा विभाग में संविलियन की मांग लंबे समय से की जा रही थी। इसमें पुरुषों के साथ ही महिला शिक्षक भी आगे रहीं। बड़ी संख्या में शिक्षक प्रदर्शनों के लिए जुट रहे हैं।

अपनी मांगों को लेकर अध्यापक अधिकार यात्रा पर निकले हैं। यात्रा के तहत शिक्षक भोपाल पहुंचे। वहां सिर मुंडाकर उन्होंने अपनी मांगों को एक बार फिर सरकार के सामने रखा। इसी पर अमल करते हुए आजाद अध्यापक संघ की प्रांताध्यक्ष शिल्पी शिवान सहित तीन महिला अध्यापकों और एक अध्यापक की पत्नी ने सिर मुंडा लिया।महिला अध्यापकों ने सरकार की वादा खिलाफी से नाराज होकर ये बड़ा कदम उठाया। 4 महिला अध्यापक और एक अध्यापक की पत्नी द्वारा सिर मुंडाने के बाद संगठन से जुडे़े करीब 1 हजार अध्यापकों ने भी मुंडन कराने की घोषणा की है। अलग-अलग जिलों से विरोध रैली संगठन ने सरकार पर आंदोलन को दबाने का आरोप लगाया है। शिक्षा विभाग में संविलियन, मृतक अध्यापकों के परिवार के सदस्यों को अनुकंपा नियुक्ति, वेतन विसंगति, पदोन्नति और सातवें वेतनमान का लाभ देने की मांगों को लेकर अध्यापक आंदोलन चलाए हुए हैं। अलग-अलग जिलों से विरोध रैली शनिवार को भोपाल पहुंची थी और इसी दौरान महिला अध्यापकों ने मुंडन कराया।इसके साथ ही महिला शिक्षक व्यवस्थित ट्रांसफर पॉलिसी की भी मांग कर रही हैं।निर्णय इसी साल की शुरुआत में लिया सरकार के खिलाफ प्रदेश की महिला अध्यापकों ने सामूहिक मुंडन कराने का निर्णय इसी साल की शुरुआत में लिया था। इन महिला शिक्षकों की अध्यापक अधिकार रथ यात्रा 5 जनवरी से शुरू हुई थी। इसमें पुरुष अध्यापक भी शामिल हुए थे। यह यात्रा ओंकारेश्वर व दतिया से भी निकाली गई थी जो आज भोपाल पहुंची।