CM योगी का धमाकेदार बयान : भगवा कपड़े पहनकर मस्जिद जाऊँगा , योगी हूँ बदला नहीं हूँ !

TV चैनल आज तक के एक कार्यक्रम (जो कि 12सितम्बर को हुआ था ) “सफाईगिरी ” में UP के CM महंत योगी आदित्यनाथ ने मस्जिद में जाने को लेकर एक बड़ा बयान दिया था जिससे नक़ली सेक्यूलरों की नींद उड़ गयी है  और वे अब क़रीब बीस दिन बाद उस बयान का बवाल बनाना चाहते हैं । योगी आदित्यनाथ ने कहा मैं पहले वाला योगी आदित्यनाथ ही हूं , अगर मैं मस्जिद जाऊंगा तो मेरा बुर्का पहनना जरूरी नहीं है, अपनी वेशभूषा में ही जाऊंगा , नीचे दोबारा पढ़ें जो योगी ने कहा था। 

योगी ने कहा,”अगर मैं मस्जिद जाऊंगा तो मेरा बुर्का पहनना जरूरी नहीं है, अपनी वेशभूषा में ही जाऊंगा.” बंगाल में जिस तरह ममता बनर्जी काम कर रही हैं उससे लगता है कि वह अगली बार सत्ता में नहीं आएँगी 

यूपी के मुख्यमंत्री ने कहा था कि हमनें हर क्षेत्र में काम शुरू किया है, जितना काम करते हैं हम उतना ही बोलते हैं। योगी ने कहा था कि हम लोग यूपी की सफाई करने के लिए सत्ता में आएं हैं, भ्रष्टाचार और अपराध के क्षेत्र में सफाई की है। अगले साल जब साफ शहरों की लिस्ट आएगी तो उसमें यूपी के कई शहर शामिल होंगे।

योगी ने ये भी कहा था , ”जो योगी आदित्यनाथ पहले बोलता था, वही आज भी है। जो पहले बोलता था आज भी वही बोलता हूं। मेरे पहनावे में भी परिवर्तन नहीं आया है।” CM योगी ने कहा कि अपने काम को मैं 1000 अंक दूंगा। 15 साल के गढ्ढों को 100 दिन में भरना चाहते हैं, ये गढ्ढे भ्रष्टाचार के गढ्ढे हैं। हमने काफी हद तक सड़कों को गढ्ढा मुक्त कर दिया है।

 गोरखपुर में हुई बच्चों की मौतों पर सीएम योगी उस कार्यक्रम में बोले थे कि मैंने कभी जापानी बुखार पर बचाव नहीं किया है, 5 महीने में 92 लाख बच्चों का टीकाकरण किया है। पिछले 5 महीने में इस बीमारी को जड़ से मुक्त करने के लिए काफी काम किया है। CM ने कहा कि इस बुखार से मौत के आंकड़ें कम हुए हैं, 2015 में अगस्त में 667 बच्चों की मौत हुई थी, 2016 में 585 बच्चों की मौत हुई, 2017 में 325 मौतें हुई हैं। हमारा लक्ष्य है कि एक भी मौतें ना हो। सरकार ने ऑक्सीजन की आपूर्ति नहीं रोकी थी।
अब क्यूँकि योगिराज ने केरल का दौरा किया है तो विरोधियों को मिर्ची लग गयी है इसलिए उनके पुराने बयान को लेकर सोशल मीडिया पर शोर मचा रहे हैं, ख़ैर योगी आदित्यनाथ ने साफ़ संकेत दिए हैं कि भाजपा सबका साथ सबका विकास में यक़ीन रखती है और तुष्टिकारन की राजनीति अब नहीं चलेगी ना ही वोटों की ख़ातिर हिंदुत्व से समझौता ही किया जा सकता है।

By: HStaff on Thursday, October 5th, 2017