विराट कोहली की नौकरी पर संकट, BCCI ने पद छोड़ने का दिया आदेश !

विराट कोहली केवल एक खिलाडी नहीं बल्कि करोड़ों युवाओं के आदर्श भी चुके है. सचिन तेंदुलकर के बाद क्रिकेट जगत में विराट कोहली ही एक ऐसा नाम है जिसे देश और विदेश में इतना प्यार और सम्मान मिलता है. विराट कोहली ने छोटी सी उम्र में कई ऐसे रिकॉर्ड बना लिए है जिसे तोड़ पाना आसन नहीं है. विराट कोहली ने इस मुकाम तक आने के लिए दिन रात मेहनत की है लेकिन लगता है उन्हें किसी की नज़र लग गयी है. टीम को लगातार जीत दिलवा रहे कप्तान कोहली की नौकरी खतरे में है.

मौजूदा खबर अनुसार बता दें कि टीम इंडिया में कई ऐसे स्टार क्रिकेटर्स हैं जो क्रिकेट खेलने के साथ-साथ भारत की किसी सरकारी कंपनी या फिर प्राइवेट फर्म में नौकरी करते हैं यानी क्रिकेट के अलावा वो दूसरे सोर्सेस से भी मोटी रकम कमाते हैं. टीम इंडिया के युवा क्रिकेटर विराट कोहली का नाम सबसे ज्यादा कमाने वाले क्रिकेटरों में शुमार है. वैसे क्रिकेट के जरिए विराट कोरोड़ों की कमाई करते हैं और इसके साथ-साथ वो सरकारी नौकरी से भी लाखों रुपये की तनख्वाह पाते हैं.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि विराट पर अपनी सरकारी नौकरी को छोड़ने का दबाव बनाया जा रहा है और इसके लिए बकायदा बीसीसीआई ने एक फरमान भी जारी किया है. विराट ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉर्पोरेशन लिमिटेड यानी ओएनजीसी में बतौर मैनेजर नौकरी भी करते हैं. लेकिन सूत्रों की मानें तो बीसीसीआई ने उन्हें संदेश भेजकर इस नौकरी को छोड़ने का फरमान जारी किया है. दरसल, सुप्रीम कोर्ट के नियम कॉन्फ्लिक्ट ऑफ इंटरेस्ट के मुताबिक खिलाड़ियों को किसी भी प्राइवेट या सरकारी फर्म में काम ना करने की बात कही गई है.

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट की क्रिकेट प्रशासक समिति यानी सीओए ने बोर्ड को यह स्पष्ट कर दिया है कि कोई भी खिलाड़ी किसी सरकारी या प्राइवेट क्षेत्र की कंपनियों के पदों पर तैनात नहीं रह सकता है.  हालांकि बीसीसीआई ने विराट को नौकरी छोड़ने का फरमान तो सुना दिया है लेकिन बताया जा रहा है कि आने वाले समय में विराट के अलावा कई और खिलाड़ियों के लिए भी यह फरमान जारी हो सकता है.

दरसल, कप्तान विराट कोहली के अलावा बीसीसीआई ने अजिंक्य रहाणे, चेतेश्वर पुजारा सहित ऐसे करीब सौ भारतीय क्रिकेटरों को सख्त चेतावनी जारी की है, जो किसी न किसी रूप में सार्वजनिक क्षेत्र के फर्म से जुड़े हुए हैं. ऐसे में सुप्रीम कोर्ट के इस नियम के बाद BCCI ने ये निर्णय लिया है कि भारतीय टीम का कोई भी खिलाडी एक साथ दो नौकरी नहीं करेगा. उनको दोनों में से किसी एक नौकरी को आगे लेकर जाना है.

बताते चलें कि विराट कोहली की सरकारी नौकरी – बहरहाल अगर देखा जाए तो विराट के लिए ओएनजीसी की नौकरी छोड़ना इतना मुश्किल भी नहीं होगा क्योंकि क्रिकेट और विज्ञापन के जरिए विराट की सालाना कमाई 100 करोड़ से भी ज्यादा है ऐसे में वो भला लाखों की इस सरकारी नौकरी की परवाह क्यों करेंगे.
By: jagjit singh on Tuesday, November 14th, 2017