VIDEO : आखिर मोदी को बड़ी चुनौती क्यों मानते हैं चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग ?

मोदी को बड़ी चुनौती मानते हैं जिनपिंग…

चीन और भारत के बीच चल रहे डोकलाम विवाद पर अमेरिका लगातार नजर बनाए हुए है. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक ऐसे नेता हैं जो भारतीय हितों के लिए खड़े होते हैं. उन्होंने कहा कि जिनपिंग को लगता है कि मोदी इसके लिए चीन को रोकने वाले देशों के साथ मिलकर काम करना चाहते हैं. शायद जिनपिंग इसी बात से चिंतित हैं.

अधिक जानकारी के लिए देखें नीचे दी गई वीडियो :-

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक, उन्होंने कहा कि कुछ समय पहले जब शी जिनपिंग दिल्ली गए थे, तो उन्हें लगा था कि पीएम मोदी की नीति चीन विरोधी नहीं होंगी. लेकिन यह जिनपिंग के लिए कारगर नहीं रहा, भारत लगातार चीन के विरोध में दिखा जिसका उदाहरण दक्षिणी चीन सागर के मुद्दे में भी दिखा. ग्लेसर 1997 में चीन पर रक्षा विभाग की विशेष समिति की सदस्य रही हैं.

बता दें कि चीन के साथ सिक्किम क्षेत्र में सैन्य गतिरोध को तकरीबन एक महीने से अधिक हो गया है. इस बीच बीजेपी सरकार के तीन मंत्री भी चीन गए थे, लेकिन सैन्य गतिरोध पर कोई असर नहीं पड़ा. दूसरी ओर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार होने के नाते डोभाल के हाथ में सुरक्षा संबंधी फैसला लेने का अधिकार है.

उल्लेखनीय है कि हाल ही डोभाल भी चीन गए थे, वहीं विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी संसद में बयान दिया था. उन्होंने कहा था कि भारत चीन के साथ विवाद को बातचीत से सुलझाना चाहता है.

By: Jindal on Saturday, August 12th, 2017