हुर्रियत नेताओं से पाकिस्तानी बातचीत को तड़प रहे शाही इमाम ने नवाज शरीफ को लिखा पत्र !

दोस्तों जैसा कि आप सभी जानते ही कश्मीर में दिन-प्रतिदिन हिंसा बढती ही जा जा रही है बीते दिन अमरनाथ यात्रियों पर किये गए आतंकी हमले के बाद पूरे देश में आक्रोश उत्पन्न हुआ है और हर कोई आतंकियों को सजा देने की मांग कर रहा है फिलहाल सरकार कश्मीर को लेकर सख्त कदम उठाने का फैसला ले चुकी है और बहुत जल्द वह कश्मीर में फिर से हालातों को सामान्य बना देगी.

image credit 

फिलहाल हम बात करने जा रहे है उस खबर की जिसने नवाज शरीफ समेत समस्त पाकिस्तानियों की नींदें हराम कर रखी है. आपकी जानकारी के लिए बता दें, दिल्ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने कश्मीर में शांति बनाए रखने के लिए सीधे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को पत्र लिखा है जिसमे उन्होंने शरीफ से हुर्रियत नेताओं के साथ बातचीत शुरू कर कश्मीर घाटी में जो तनाव का माहौल बना हुआ है उसे खत्म करने का निवेदन किया है.

इसके साथ ही बुखारी ने खत में ये भी लिखा है कि कश्मीर में हालात दिन-प्रतिदिन बिगड़ते जा रहे है और इससे पाकिस्तान और भारत के आपसी सम्बंध में भी तनाव बढ़ रहा है, मुझे लगता है कि जितनी जल्द हो सके कश्मीर के हालातों को सही कर देना चाहिए वरना बहुत देरी हो जाएगी , असल में भारत सरकार पाकिस्तान और हुर्रियत किसी से भी बात नहीं कर रही है हो सकता है इमाम बुख़ारी इसी वजह से परेशान हैं ।

इसके साथ ही इमाम ने ख़त में ये भी लिखा है कि कश्मीर को और नूक्सान और बर्बादी से बचाने के लिए पूरी बुद्धि समझ और विवेक से प्रयास करने चाहिए और शांति का रास्ता तैयार करना चाहिए. कश्मीर के लोग आतंक और लाचारी में जी रहे है उनका कश्मीर में जो शांति का जो सपना था वो धीरे-धीरे टूट रहा है. जो कश्मीर किसी जमाने में सबसे शांति वाली घाटी होती थी आज वहां सिर्फ आंसू देखने को मिलते है.

बुखारी ने भारतीय मुसलमानों की मुश्किल परिस्थितियों का जिक्र करते हुए नवाज शरीफ से सीमा पर तनाव कम करने, स्थिति को सामान्‍य करने और हुर्रियत से बात शुरू करने की अपील की. उन्‍होंने चेताया कि कश्‍मीर मसले का हल बंदूक और पत्‍थरों से नहीं निकलेगा , हालाँकि दूसरी तरफ़ हुर्रियत और बड़े बड़े मुस्लिम नेताओं पर NIA का शिकंजा भी कसता जा रहा है कहीं ये वजह तो नहीं है जो पाकिस्तान को पत्र लिखा गया है  ?

By: Thakur Mintu on Sunday, July 16th, 2017