इन लडकियों की उंगलियों पर नाचते है पुरुष , आप भी हो जाएँ सावधान !

तो इस वजह से पुरुष स्त्रियों के इशारे पर नाचते हैं, जानकर हैरान रह जायेंगे आप…

शादी के बाद अक्सर सभी मर्द अपनी पत्नियों के इशारे पर ही नाचते पाए जाते हैं. यहाँ तक की शादी से पहले भी लड़कों को अपने गर्लफ्रेंड की बातें ज्यादा मानते हुए पाया गया है. कुछ लोग इसे प्यार समझते हैं लेकिन इसे प्यार समझने की भूल ना करें क्यूंकि इसके पीछे बहुत ही गहरा राज जिसपर से आज हम पर्दा उठाने जा रहें हैं.

स्त्रियों का मन बंटा हुआ होता है !

पुरुषों के स्त्रियों के इशारे पर नाचने के पीछे एक महत्वपूर्ण कारण है जिसके बारे में आज हम आपको बताने जा रहें हैं. अगर स्त्रियों की मन की बाते करे तो इसे आजतक कोई नहीं समझ पाया है, खासकरके पुरुष तो बिलकुल भी नहीं. लेकिन चणक्या नीति के अनुसार ऐसा बताया गया है की स्त्रियों का मन बंटा हुआ होता है, मतलब ये की वो देखती एक पुरुष के तरफ है, बात किसी और से करती हैं लेकिन सोचती किसी तीसरे के बारे में है.

ऐसे में तीनों पुरुषों को लगता है की वो सूंदर स्त्री उनसे प्यार करती है, जबकि ऐसा है भी या नहीं ये समझ पाना बहुत मुश्किल होता है. सदियों से ऐसा होता आया है की चाहे कितनी भी विपत्ति आये लेकिन अगर एक स्त्री किसी पुरुष को वश में कर लें तो फिर वो उस स्त्री का कोई कुछ नहीं बिगाड़ पाता. स्त्रियों को खूब भली भांति पता होता है की कैसे मुश्किल वक़्त में किसकी मदद ली जा सकती है.

इसके साथ ही शास्त्रों में भी ये लिखा गया है कि लालच करने वाले मनुष्य का कोई भविष्य नहीं होता, इसी प्रकार वैसे मर्द जो स्त्रियों की इच्छा रखते हैं. उन्हें भोग विलास का वस्तु समझते हैं वो सदैव स्त्रियों के इशारे पर या उनके कहे अनुसार चलने पर मजबूर रहते हैं. ऐसे मनुष्य स्त्री सुख पाने के लिए उनकी किसी भी बात को मान सकते हैं और जैसा वो कहे वही करते हैं.

एक तरह से ये महिलाओं की गुलामी ही करते है. मर्द जब अपनी जमीर और अपना आत्मा सम्मान किसी स्त्री के हाथों सौंप देते है तो उनका जीवन कारागार में जीवन व्यतीत कर रहे व्यक्ति की तरह हो जाता है जो अपनी मर्जी अनुसार कुछ नहीं कर सकता, जिससे स़्त्री उनका फायदा उठाती है और अपने इशारें पर नाचती है.

अगर आपको दी गई जानकारी पसंद आई तो ऐसी ही और खबरों के लिए हमें फ़ॉलो कीजिए।