ये है ताजमहल का वो दरवाजा जिसे खोलने से सरकार भी डरती है , आपने देखा क्या ?

ताजमहल में छिपें है ऐसे बहुत से रहस्य जिन्हें कोई नही सुलझा पाया है ऐसा ही एक बंद इसमें बंद दरवाजा है जिसे खोलने से सरकार भी डरती है !!

भारत को एक रहस्यमयी देश कहा जाता है क्योंकि यहाँ पर ऐसे बहुत से रहस्य छुपे है जिन्हें वैज्ञानिक तक नही खोज पाए है बहुत से लोगो ने कोशिश तक की, कि वे यहाँ छिपे सभी रहस्यों को जान सके लेकिन अफ़सोस उन्हें निराशा ही हाथ लगी . ताजमहल को लेकर बहुत सी कहानियाँ हम बचपन से पढ़ते व् सुनते आये है हालंकि इसे बावजूद भी हम इसके बारे में बहुत कम जानते है.

दोस्तों क्या आप जानते है कि ताजमहल के तहखाने से जुड़ा एक ऐसा रहस्य है जिसे सरकार तक नही जान पाई या यूँ कहना भी गलत नही होगा कि सरकार ताजमहल के तहखाने का दरवाजा खोलने से डरती है ताजमहल का निर्माण 1631 में शुरू किया गया था और साल 1653 में ये बनकर तैयार हो गया था .

नीचे दी गयी विडियो में आप जान सकते है आखिर वह कौन सा राज है जिसके चलते सरकार तक डरती है ताजमहल का दरवाजा खोलने से ! जानने के लिए देखें विडियो !

ताजमहल को निर्माण कुशलता का एक बेमिसाल नमूना कहा जाता है शोधकर्ताओं ने इसपर कई शोध भी किए है और उनका आज भी यही मानना है कि ताजमहल के नीचे हजार से भी अधिक कमरे मौजूद है इसके साथ ही इनका ये भी मानना है कि ताजमहल धरती के जितना उपर है उतना ही धरती के नीचे भी है .

ताजमहल के निर्माण के समय उससे बाहर निकलने और अंदर जाने का रास्ता बनाया गया था इसके साथ ही इसके नीचे से एक ऐसा रास्ता बनाया गया था जो कहीं दूर बाहर निकलता है लेकिन इस रास्ते को शाहजहाँ के शासनकाल में ही बंद करवा दिया गया था.
By: Thakur Mintu on Thursday, October 26th, 2017