‘ब्रह्मोस मिसाइल’ की तैनाती के बाद,मोदी का हाहाकारी ऐलान अब तैनात होंगी होवित्जर तोपें चीन में मचा हडकंप !

अमेरिका से मिली खूंखार होवित्जर तोपों का पोखरन में हुआ परीक्षण, साथ ही कर दिया मोदी सरकार ने बड़ा ऐलान चीनी सीमा पर होगी तैनात साथ ही दिखा दी अब भारत झुकने वालों में से नही !

चीन (China) और भारत (India) और  के बीच का संबंध बिगड़ता ही जा रहा है. सिक्किम (Sikkim) को लेकर भारत और चीन के बीच जो विवाद चल रहा है वो अब युद्ध का रूप धारण कर रहा है. लेकिन बता दें कि चीन चाहकर भी ऐसा नहीं कर सकता है इसलिए वो अपनी गिदड़धमकियों से भारत को डरा रहा है. बता दें कि चीन की कई ऐसी बड़ी वजह है जिससे वो भारत का बाल भी बांका नहीं कर सकता है.

भारत की मोदी सरकार ने चीन की धमकियों को ठंडे बस्ते में डालने का काम किया है और साथ ही चीन को उसकी असली औकात दिखाते हुए एक बार फिर ऐसा काम करने का निर्णय लिया है जिसकी कल्पना चीन ने नहीं की होगी,होवित्जर तोपों की तैनाती की खबर से चीन बौखला चूका है.

READ ALSO : भारत की धरती से तिब्बत के निर्वासित पीएम डॉ. लोबसांग की दहाड़,भारत पर दिए इस बयान से चीन में हलचल तेज !

भारतीय सेना में सम्मलित होने जा रही हॉवित्जर तोप बोफोर्स के मुकाबले बहुत हल्की है.जहां बोफोर्स तोप का वजन करीब 13 टन है वही हॉवित्जर का वजन चार टन ही है.

— सबसे खास बात इन हॉवित्जर तोपों की यह है की इनको हेल्किॉप्टर के माध्यम से आसानी से पहाड़ी क्षेत्रों में तैनात किया जा सकता है. भारत ने इसी वजह से खास तौर पर इन्हें चुना,गौरतलब है कि चीन और पाकिस्तान के भारतीय सीमा पहाड़ी क्षेत्र में काफी दूरी तक है.
— मीडिया सूत्रों के हवाले से मिली हुई जानकारी के अनुसार भारत को मिलने वाली 145 हॉवित्जर तोप में से 25 तोप भारत को तैयार मिलेंगेी जबकि बाकी का निर्माण भारत में ही किया जाएगा।

Image result for होवित्जर तोपें

READ ALSO : VIDEO : बॉर्डर पर ब्रह्मोस की तैनाती की खबर से तिलमिलाया चीन,मोदी ने दिखाया दम !
— यही नही इन तोपों के दम पर भारत किसी भी देश को पठ्खनी दे सकता है आपको याद होगा कारगिल युद्ध में किस तरह बेफोर्स ने पाकिस्तान की नाक में दम किया था,हॉवित्जर तोप आधुनिक तकनी​क से लैस है इसलिए इस आॅपरेट करने के लिए केवल चार—पांच सैनिकों की ही आवश्यकता होगी.
— जहां बोफोर्स की मारक क्षमता 20—25 किलोमीटर है वहीं हॉवित्जर की मारक क्षमता 40 किलोमीटर तक बतायी जा रही है.
— जो बात मीडिया से बात करते हुए देश के रक्षा विशेषज्ञों ने बताई है उसके अनुसार हॉवित्जर तोप से एक मिनट में पांच गोले दागे जा सकते है जबकि बोफोर्स तोप से इतनी समयावधि में केवल दो गोले ही दागे जा सकते है.

मोदी सरकार जो-जो देश की सुरक्षा के लिए करना चाहिए वो सारे कदम उठा रही है देश के सभी नागरिक मोदी सरकार का इसके लिए दिल से नमन करते हैं देश तभी मजबूत होता है जब देश की सेना मजबूत हो !

By: hindutva Info Writer on Sunday, July 16th, 2017