शॉकिंग : योगीराज में जिहादियों ने तोड़ा शिवलिंग , मची त्राहि त्राहि हिन्दूओं की भावना फिर कुचली !

अलीगढ़ में माहौल बिगाड़ने की आशंका, मंदिरों की प्रतिमाएं तोड़ीं गयी, इस वजह से इलाके में तनाव.

थाना इग्लास के जवार गांव में करीब तीन सौ साल पुराने शिव मंदिर में आज सुबह जब पुजारी पूजा करने गये तो मन्दिर के अंदर मूर्तियां टूटी हुई मिलीं. इस खबर को सुनकर इलाके के लोग इकठे हो गये. तीन सौ साल पुराने शिव मंदिर में मूर्तियां टूटने से इलाके में काफी तनाव फैल गया है. पहले भी इस मन्दिर की मूर्तियाँ तोड़ी जाती रही हैं.

बताया जा रहा है कि गणेश व पार्वती की मूर्ति बुरी तरह खंडित कर दी गई है. लोगों के तनाव को देखते हुए मौके पर पुलिस फोर्स भी तैनात कर दी गई है और पुलिस ने फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट को बुला लिया है. टूटी हुई मूर्ति की जगह पुलिस प्रशासन नई मूर्ति रखने की बात कर रहा है. वहीं दूसरी ओर हिन्दू वादी संगठनों ने आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार करने की मांग की है.

हालांकि इस इलाके में ये पहली बार नही हुआ है बल्कि पहले भी इस मंदिर को क्षति पहुंचाने पर विवाद हो चुका है. दरअसल जवार गांव मिली जुली आबादी वाला इलाका है. इस इलाके में बना हुआ शिव मंदिर तीन सौ साल पुराना बताया जा रहा है और ये इस इलाके के लोगों की आस्था का केन्द्र भी है. भगवान शिव के साथ  गणेश व पार्वती की मूर्तियाँ भी मंदिर में स्थापित है. इस मन्दिर में कुछ खास अवसरों के साथ ही रोजाना पूजा करने वालों की भीड़ रहती है.

लेकिन आज सुबह जब पुजारी ने मंदिर का दरवाजा खोला तो वो हैरान रह गया. पुजारी ने देखा कि नंदी, गणेश व पार्वती जी की मूर्तियां खंडित थीं. सूचना पर पुलिस के अधिकारी भी वहां पहुंच गये. पुलिस ने लोगों को समझाया कि ऐसी हरकत करने वालों को हम छोड़ेंगे नहीं. फोरेंसिक टीम, और फिंगर प्रिंट टींम को बुलाया गया है. मंदिर के पुजारी भी इस घटना से हैरान रह गये है. पुलिस प्रशासन ने कहा है कि मंदिर में खंडित मूर्तियों की जगह दूसरी मूर्तियाँ लगाने की बात कह कर लोगों को समझा रहे हैं.

By: Jyoti Kala on Friday, April 21st, 2017