12 जनवरी एकादशी के दिन इन 5 राशियों की ऐसी किस्मत खुलेगी की ये सोच भी नही सकते !

दोस्तों 12 जनवरी को एकादशी है और एकादशी के दिन 5 राशियों के उपर भगवान विष्णु के साथ-साथ माँ लक्ष्मी जी की भी कृपा होने वाली है और उनकी कृपा से ये 5 राशियाँ हो जायेगी मालामाल !

हिंदू पंचाग की ग्यारहवी तिथि को एकादशी कहते हैं। यह तिथि मास में दो बार आती है। पूर्णिमा के बाद और अमावस्या के बाद। पूर्णिमा के बाद आने वाली एकादशी को कृष्ण पक्ष की एकादशी और अमावस्या के बाद आने वाली एकादशी को शुक्ल पक्ष की एकादशी कहते हैं। इन दोनो  प्रकार की एकादशियों का भारतीय सनातन संप्रदाय में बहुत महत्त्व है।

एकादशी व्रत करने की इच्छा रखने वाले मनुष्य को दशमी के दिन से कुछ अनिवार्य नियमों का पालन करना पड़ेगा। इस दिन मांस, प्याज, मसूर की दाल आदि का निषेध वस्तुओं का सेवन नहीं करना चाहिए। रात्रि को पूर्ण ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए तथा भोग-विलास से दूर रहना चाहिए।

एकादशी के दिन प्रात: लकड़ी का दातुन न करें, नींबू, जामुन या आम के पत्ते लेकर चबा लें और उँगली से कंठ साफ कर लें, वृक्ष से पत्ता तोड़ना भी ‍वर्जित है। अत: स्वयं गिरा हुआ पत्ता लेकर सेवन करें। यदि यह संभव न हो तो पानी से बारह बार कुल्ले कर लें। फिर स्नानादि कर मंदिर में जाकर गीता पाठ करें या पुरोहितजी से गीता पाठ का श्रवण करें। प्रभु के सामने इस प्रकार प्रण करना चाहिए कि ‘आज मैं चोर, पाखंडी और दुराचारी मनुष्यों से बात नहीं करूँगा और न ही किसी का दिल दुखाऊँगा। रात्रि को जागरण कर कीर्तन करूँगा।’

‘ॐ नमो भगवते वासुदेवाय’ इस द्वादश मंत्र का जाप करें। राम, कृष्ण, नारायण आदि विष्णु के सहस्रनाम को कंठ का भूषण बनाएँ। भगवान विष्णु का स्मरण कर प्रार्थना करें कि- हे त्रिलोकीनाथ! मेरी लाज आपके हाथ है, अत: मुझे इस प्रण को पूरा करने की शक्ति प्रदान करना।

आपकी जानकारी के लिए बता दें इस एकदशी को 5 राशियों की किस्मत पूरी तरह से बदलने वाली है वे कौन सी राशियाँ है ये जानने के लिए देखें नीचे दी गयी विडियो !

दोस्तों अगर आपको हमारी यह पोस्ट अच्छी लगे तो लाइक और शेयर जरूर कीजिए और ऐसे ही पोस्ट आगे भी पढ़ते रहने के लिए हमें फॉलो करना ना भूलें, क्योंकि हम हर रोज ऐसे ही पोस्ट आपके लिए लाते रहते हैं।