अब टूटेगा महागठबंधन, जब बिहार में नीतीश उठाएंगे ये बड़ा कदम !

दोस्तों बिहार में राजनीति को लेकर रोजाना  नया-नया ड्रामा देखने को मिलता रहता हैं लालू यादव और उसके बेटों पर आए दिन नई नई मुसीबतें आती रहती है लेकिन अब बिहार में सियासी संकट के बीच एक सबसे बड़ा सवाल जो बना है वह ये है कि नीतीश कुमार की महागठबंधन वाली सरकार से डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव खुद इस्तीफा देंगे या नीतीश कुमार उन्हें बर्खास्त करेंगे.

image credit 

यदि खबरों की माने तो यदि सरकार पर संकट आया तो नीतीश कुमार खुद भी पद छोड़ सकते हैं. शनिवार को भी पर्दे के पीछे तमाम सियासी कोशिशों के बावजूद इस मसले पर कोई हल नहीं हो सका है. आपकी जानकारी के लिए बता दें लालू प्रसाद यादव और नीतीश कुमार के बीच बातचीत पूरी तरह से बंद हो गई है. इस बीच रविवार को जेडीयू ने एक बार फिर अपने विधायकों की मीटिंग बुलाई है.

हालांकि जेडीयू के अनुसार यह मीटिंग पूर्व निर्धारित थी और राष्ट्रपति चुनाव के मद्देनजर इसे बुलाई गई है. लेकिन सूत्रों के अनुसार इस मीटिंग में नीतीश कुमार कोई सख्त कदम उठाने से पहले अपने विधायकों से बात कर सकते हैं. नीतीश कुमार ने अपने दल के वरिष्ठ नेताओं सहित कांग्रेस लीडरशिप को साफ कह दिया है कि तेजस्वी को जाना ही होगा.

image credit 

वहीं, कांग्रेस अभी भी परदे के पीछे दोनों दलों के बीच सबकुछ ठीक करने की अंतिम कोशिश कर रही है. कांग्रेस के एक सीनियर नेता के अनुसार लालू प्रसाद और नीतीश कुमार के बीच आमने-सामने बात कराने की कोशिश की जा रही है. उनका दावा है कि अगर दोनों नेता एक साथ 5 मिनट भी बैठ गए तो मुद्दे का हल निकल जाएगा.

दरअसल दोनों नेताओं के बीच आपस में बातचीत पिछले कुछ दिनों से बंद है. लालू-नीतीश के बीच इस तनातनी से सबसे विकट स्थिति कांग्रेस के लिए है जो तय नहीं कर पा रही है कि वह किस तरह किसके साइड से बात करे.

वहीं आरजेडी-जेडीयू के बीच तनाव तब और सार्वजनिक तौर पर सामने आया जब एक सरकारी कार्यक्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की मौजूदगी में डेप्युटी सीएम तेजस्वी प्रसाद नहीं आए. कार्यक्रम में उनकी कुर्सी और टेबल पर उनकी नेमप्लेट भी लगी हुई थी. बाद में उनकी नेमप्लेट को हटा दिया गया.

By: Thakur Mintu on Sunday, July 16th, 2017