धमाकेदार खबर : मोदी सरकार ने कसा शिकंजा,NIA ने हुर्रियत नेताओं की हवा की टाइट उठाया बड़ा कदम !

अब खुलेगी सबकी पोल !

देशद्रोही पाक प्रस्त अलगाववादी नेताओं की पोल अब पूरी तरह खुलने वाली है पाकिस्तान और आंतकी हाफिज सायेद के साथ उनके जो रिश्ते हैं उसको लेकर साथ ही वहां से आने वाला जो पैसा है उसको लेकर जाँच शुरू हो चुकी है !

मोदी सरकार के सत्ता में आते ही अलगाववादियों के बुरे दिन शुरू हो चुके हैं.एक समय था जब कांग्रेस कश्मीर मुद्दे पर इन देशद्रोही अलगाववादी नेताओं से बातचीत करती थी और एक आज का समय है जहाँ मोदी सरकार ने दो टूक शब्दों में कहा है कश्मीर और पाकिस्तान मुद्दे पर देशद्रोही अलगाववादी नेताओं से कोई बातचीत नहीं होगी.

कश्मीर में पत्थरबाजी की घटना के ऊपर जाँच करते हुए सुरक्षा एजेंसी ने पाया था कि इन देशद्रोही अलगाववादी नेताओं को फंडिंग होती है जिस पैसे का इस्तमाल ये नेता कश्मीरी पत्थरबाज युवकों को देने के लिए करते हैं.जो सबसे बड़ी बात इस जाँच में सामने आई थी उसके मुताबिक ये सारा पैसा पाकिस्तान से आता था.

अब इसी कड़ी में आगे जाते हुए NIA ने इन हुर्रियत नेताओं के ऊपर जाँच बैठा दी है.अब गिलानी जैसे देशद्रोही नेताओं की पोल खुलकर पुरे देश के सामने आएगी जिसके बाद ये कोई सफाई तक नहीं दे पाएंगे.NIA और मोदी सरकार का एक ही उदेश्य है किसी भी तरह इनको आ रही फंडिंग को रोकना.अगर मोदी सरकार इसमें कामयाब हो जाती है तो पत्थरबाजी खुद रुक जाएगी.

आपकी जानकारी के लिए हम बता दें की सुरक्षा एजेंसी NIA की टीम जाँच के लिए श्रीनगर पहुँच चुकी है.

NIA को शक है कि जम्मू कश्मीर में हाफिज सईद और पाक आधारित आतंकवादियों द्वारा हुर्रियत नेताओं एस.ए.एस गिलानी, नईम खान और अन्य को कश्मीर में हिंसा व दंगे फसाद करवाने के लिए सीमा पार से फंडिंग की जा रही है.