बड़ी खबर :मुसलमान फ़िरोज़ खान को लेकर ABP न्यूज़ के वायरल झूठ का हुआ पर्दाफाश !!

ABP न्यूज़ ने फिरोज गांधी के नाम पर फैलाया बड़ा झूठ !!

हाल ही में ABP की एक खबर आई थी उसमें उन्होंने दावा किया है की मैमुना बेगम उर्फ़ इंदिरा गांधी को जगन्नाथ मंदिर में प्रवेश इसलिए नही मिला था क्यूंकि उन्होंने पारसी फिरोज गांधी से विवाह किया था . आपको जानकर हैरानी होगी की फिरोज गांधी का असली नाम फिरोज खान था . फिरोजखान एक मुसलमान था और जहांगीर नबाब खान का बेटा था . जहांगीर नबाब खान ने जिस लड़की से निकाह किया था वो पारसी थी लेकिन निकाह से पहले वो इस्लाम कबूल कर चुकी थी . इंदिरा गांधी के विवाह का रजिस्ट्रेशन मैमुना बेगम के नाम के रूप में हुआ था .

मैक्समूलर ने अपने विचार रखते हुए कहा था की  ईरान में ईरानी भाषा का प्रसार भारत से हुआ है . उन्होंने आगे कहा है की में आज भी मानता हूँ की संस्कृत के छंद शब्द का तद्भव है जिसका प्रयोग पाणिनि ने वैदिक भाषा के लिए किया है .

Image result for फिरोज खान गांधी

जतिंद्र मोहन चटर्जी मानते है की अवेस्ता भृगु की रचना है और भृगु वरुण के उपासक थे . आपको बता दे की जिस विभेद की बात की जाती है उस प्रसंग में भृगु को विष्णु की छाती पर लात मारते हुए दिखाया गया है . इन्होने गोमूत्र को बहुत ही पवित्र माना है .

ग्रियसन ने लिखा है की जो लोग अन्य बातो में मतभेद रखते है वह यह मानते है की मंद आर्य थे . चाहे वो कही से भी आये हो हमे इस बात का संकेत नही मिलता की वे दक्षिण या दक्षिण पूर्व से या जैसा की कुछ लेखक सोचते हैं .

आपको बता दे की ऋग्वेद के पुराने ऋचाओं में कुत्ते का वध करना निषेध किया गया था . कुत्ते के  वध को घोर पाप माना जाता था . आपको जानकर हैरानी होगी की इस को इतना बड़ा पाप माना जाता था की जिसके आगे गो वध या मनुष्य का वध भी छोटा पाप माना जाता था . अगर कोई मनुष्य का वध कर दे तो उसे 40 कोड़े लगते थे और अगर कोई कुत्ते का वध कर दे तो उसे 100 कोडो की सजा मिलती थी !!

By: Manu Thakur on Friday, April 21st, 2017