ओह माई गॉड : इस मशहूर क्रिकेट खिलाड़ी की काट दी पैर की सारी उँगलियाँ, जान के पड़े थे लाले !

अभी अभी न्यूज़ीलैंड की टीम भारत का दौरा करके गयी है और भारत ने T-20 मैचों की सीरिज़ उनसे जीत ली है हालाँकि न्यूज़ीलैंड की टीम ने आस्ट्रेलिया की तरह समर्पण नहीं किया और भारत को कड़ी टक्कर दी

आज हम आपको उनके एक बेहद ख़ास बल्लेबाज़ और ज़बरदस्त खिलाड़ी के जीवन के बारे में बता रहे हैं, असल में न्यूजीलैंड टीम के बहुत ही शानदार बल्लेबाज मार्टिन गप्टिल अपने बचपन में जीवन के उस बुरे दौर को झेल चुके हैं, जिसकी हममें से कोई सामनाय व्यक्ति तो कल्पना भी नहीं कर सकता ।

हो सकता है कि कोई भी आम इंसान इस तरह के हादसे के बाद कभी दोबारा उठ ना खड़ा होता और काफी हद तक टूट जाता मगर ये तो मार्टिन हैं जो बचपन से ही बेहद जुझारू थे, जिसके चलते उन्होंने उस समय ने उनके जीवन के सबसे बुरे हालात से लड़ते हुए आज पूरी तरह से परिस्थितियों पर विजय पा ली है और उनका सितारा बुलंदियों पर है।

आख़िर ऐसा हुआ क्या था?

आप सोचेंगे कि आख़िर ऐसा भी क्या हुआ होगा तो आपको बता देते हैं कि जब 30 सितंबर 1986 को पैदा हुआ न्यूज़ीलैंड के मार्टिन 13 साल के थे तो उनके साथ बेहद ख़तरनाक हादसा हो गया था, हुआ यूँ था कि फोर्क लिफ्ट (सामान उठाने की लिफ्ट) के नीचे ग़लती से उनका पैर आ गया था, जिसकी वजह से उनके बाएं पैर की तीन उंगुलियां बुरी तरह से कुचली गयी थी।

उस समय के सबसे बड़े डॉक्टर्स और सर्जनस की टीम ने उंगुलियों को बचाने की काफी कोशिश की मगर जान को खतरा देखकर उन्हें मजबूरन काटना ही पड़ा । इसके चलते अपनी टीन एज में मार्टिन गप्टिल को दौड़ने भागने में भी परेशानी होती थी। लेकिन जब वो अपने हालात से टूटते और अकेले में रोते तो परिवार उनका हौसला अफजाई करता। धीरे धीरे उन्होंने हालात से जूझना शुरू किया और इस मुक़ाम पर पहुँचे। मार्टिन गप्टिल को ‘मार्टी टू टोज’ के निक नेम से भी बुलाया जाता है।

जब मार्टिन हॉस्पिटल में थे तो उनके पिता पीटर ने कोशिस करके न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान स्टीफन फ्लेमिंग को उनके पास बुलाया और उन्हें अस्पताल तक ले जाने में कामयाब रहे। इसी के चलते गप्टिल को परिस्थितियों से जूझते हुए बेहतरीन क्रिकेटर बनने के लिए प्रेरणा मिली। गप्टिल अपने डेब्यू में वनडे में सेंचुरी जड़ने वाले न्यूजीलैंड के पहले क्रिकेटर हैं। उन्होंने अपने पहले वनडे मैच में वेस्ट इंडीज के खिलाफ 122 रन की पारी खेली थी।

कभी कभी मशहूर लोगों के जीवन की एक बात हमें प्रेरणा दे जाती है और उससे हम इतना कुछ सीख लेते हैं जो हमें ख़ुद के जीवन में काफ़ी मदद करता है  , इसलिए ही तो बच्चों को महान पुरुषों या फिर कुछ बेहद मशहूर हस्तियों के जीवन के बारे में पढ़ने को कहा जाता है  ।

By: HStaff on Saturday, November 11th, 2017