जानिये सिंदूर से जुड़ी कुछ ऐसी बातें जो हर सुहागिन स्त्री को ध्यान रखनी चाहिए !

शादी के बाद महिलाओं के लिए मांग में सिंदूर लगाना अनिवार्य परंपरा है। ये सुहाग की निशानी है और हर सुहागिन के लिए सबसे मूल्यवान चीजों में से एक है। यहां जानिए सिंदूर से जुड़ी कुछ ऐसी बातें जो हर महिला को ध्यान रखनी चाहिए…

सुहागिन महिलाओं के लिए सिंदूर का बहुत महत्व होता है। सिंदूर को सुहाग की निशानी माना जाता है। हर शादीशुदा महिला सिंदूर को माथे पर लगाती ही हैं। मान्यताओं के अनुसार, सिंदूर नहीं लगाना अशुभ माना गया है। इसे वह अपने पति की खुशी से जोड़ती हैं। माना जाता है कि सिंदूर के बिना सुहागन का श्रृंगार अधूरा होता है।

पौराणिक कथाओं के अनुसार सिंदूर को अध्यात्म से जोड़कर देखा जाता है। अगर सिंदूर गलत जगह लगा हो तो वो अपशगुन माना जाता है। शास्त्रों के मुताबिक जो महिलाएं अपनी मांग के बीचो-बीच सिंदूर लगाती है उनते पति की अकाल मृत्यु नहीं होती है। माना जाता है कि यह सिंदूर उसके पति को संकट से बचाता है। एक अन्य मानयता के अनुसार जो स्त्री अपने मांग के सिंदूर को बालों में छिपा लेती है, उसका पति समाज में भी छिप जाता है।

मांग में सिंदूर लगाने के पीछे वैज्ञानिक कारण भी है। माना जाता है जहां महिलाएं सिंदूर लगाती है वहां एक ग्रंथि होती है। जिसे ब्रह्मरंध्र कहा जाता है। ये जगह बहुत ही सेंसटिव होती है। इसलिए यहां सिंदूर से स्वास्थ्य संबंधी परेशानी नहीं होती है। सिंदूर लगाने से मां लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है। साथ ही नेगेटिव एनर्जी से बचा जा सकता है। सिंदूर लगाने से पति-पत्नी के बीच प्रेम बढ़ता है।

सिंदूर लगते समय हर महिला को कुछ जरुरी बाते ध्यान में रखनी चाहिए ये बातें हम आपको नीचे दी गयी विडियो में बता रहे है इसलिए इन्हें जानने के लिए जरुर देखें विडियो !

दोस्तों अगर आपको हमारी यह पोस्ट अच्छी लगे तो लाइक और शेयर जरूर कीजिए और ऐसे ही पोस्ट आगे भी पढ़ते रहने के लिए हमें फॉलो करना ना भूलें, क्योंकि हम हर रोज ऐसे ही पोस्ट आपके लिए लाते रहते हैं।