जापानी PM ने भारत को दिया महाकाल..बोले- अब देर न करना, चीन के साथ-साथ PAK को भी उड़ा दो !

भारत को घेरते घेरते खुद घिर गया चीन…

डोकलाम में चीन और भारत आमने-सामने हैं, लेकिन विशेषज्ञ कहते हैं इस मुद्दे पर आक्रामक होने के बावजूद चीन भी युद्ध नहीं चाहता. फिर भारत तो अपना रुख साफ कर ही चुका है कि युद्ध किसी समस्या का हल नहीं है, लेकिन अगर कोई हमला होता है तो वह पूरी तरह से तैयार है. जबसे डोकलाम विवाद सामने आया है तब से चीनी मीडिया बार-बार भारत को 1962 का युद्ध याद रखने की धमकी देता रहा है.

दरअसल डोकलाम में सड़क को लेकर INDIA और CHINA के बीच संकट गहराता जा रहा है. दोनों देशों की ओर से बड़े नफरत भरे बयान आ रहे हैं. CHINA दिन ब दिन भारत को धमकी देता जा रहा है वहीं खबर आ रही है चीन युद्ध की तैयारियां भी कर रहा है. चीन के अखबार ग्लोबल टाइम्स में छपे सम्पादकीय में फिर एक बार भारत के खिलाफ जहर उगला गया था.

युद्ध पर आई तो चीन का सर्वनाश…

अखबार ने डोकलाम इलाके से दोनों देशों द्वारा एक साथ सेनाएं हटाने को भारत का “दिवास्वप्न” बताया . संपादकीय में भारत के खिलाफ सैन्य कार्रवाई की भी धमकी दी गई है. इस संपादकीय में लिखा गया है, “अगर भारत अपने सैनिक नहीं हटाता है तो चीन के पास आखिरी विकल्प है. उससे लड़ाई और बगैर किसी कूटनीति के संघर्ष का खात्मा. चीन की इस धमकी पर जापान की प्रतिक्रिया आई है. जापान ने चीन को चेताया है कि अभी भी समय है सीमा विवाद को जल्द से जल्द सुलझा लो.

अगर बात युद्ध पर आई तो चीन का सर्वनाश होना तय है. क्योंकि भारत के पक्ष में सारी महाशक्तियां है. उसका चीन तो क्या दुनिया का कोई भी देश कुछ नहीं बिगाड़ सकता. जापान के PM शिंजो आबे कुछ दिन बाद बुलेट ट्रेंन के कार्य का उद्धाटन करने भारत आ रहे हैं. भारत आने से पहले उन्होंने भारत को एक शानदार तोहफा दिया है, जो चीन जैसे देश को मिनटों में कब्रिस्तान बना देगा.

भारतीय विदेश मंत्री ने संसद के मॉनसूत्र में साफ किया था कि चीन डोकलाम के त्रिमुहाने वाले इलाके में यथास्थिति बदलना चाहता है और इससे भारत की सुरक्षा पर गंभीर असर पड़ सकता है. देशों के बीच पूर्ण सहयोग को बढ़ावा देता है.

By: Jindal on Saturday, August 12th, 2017