Shocking: देखिये इस्लाम में गोमांस के सेवन पर, इस्लामी विद्वान ने किया ये बड़ा खुलासा

हिन्दू संस्कृति में गाय को माँ का दर्जा दिया गया है! गाय की रक्षा करना हर हिन्दू का परम धर्म है! हिन्दू धर्म में गौमांस का सेवन करना पाप समझा जाता है! हिन्दू होने के नाते हमने कभी भी अपने पूर्वजों के बनाए नियमों पर प्रशन नहीं उठाए! गाय में वैसे भी गाय बहुत लाभकारी है, गाय में कई सामाजिक, औषधिक गुण पाए गये हैं! दूध से लेकर गाय की खाद तक, गाय मनुष्य जाती के बहुत काम आती है!

लेकिन, इस्लाम में गाय को मारना और उसका मास खाना जन्म सिद्ध अधिकार करार कर दिया है!  पिछली कुछ सदियों में कुछ भारतविरोधी तत्वों ने भारतीय मुस्लिमों का दीमाग भटका दिया है! वे इस्लाम धर्म के नाम पर गायों को मारने और उन्हें खाने के लिए लोगों को प्रोत्साहित करते हैं! बल्कि अब तो मुस्लिम त्योहारों में गायों की बली और गोमांस के सेवन का एक रुझान सा बन गया है! मुस्लिम ये नहीं समझते कि हिन्दू की मान्यताओं के बारे में इन्हें गलत जानकारी दी गई है, इन्हें गुमराह किया गया है!

ठीक इसी कथन की पुष्टि अमेरिका के प्रसिद्ध इस्लामी विद्वान हमज़ा युसूफ ने की है! यहां वे पैगंबर मुहम्मद के शब्दों का ज़िक्र कर, इस्लाम में गोमांस न खाने के बारे में बता रहे हैं! पैगंबर मुहम्मद ने कहा था कि, “गोमांस से बीमारियां पैदा होती है! उन्होंने मुस्लिमों को गाय का दूध ग्रहण करने की सलाह दी, न की गोमांस के सेवन की! “

By: HStaff on Wednesday, October 26th, 2016

Loading...