खुशखबरी : चीन सीमा के इतने नज़दीक पहुंचा भारत, अब देगा ड्रैगन को देगा मुंहतोड़ जबाव !!

अब आएगा मजा !!

चीन को सबक सिखाने का समय आया निकट !!

Image result for चीन और भारत

image credit 

ये तो आप जानते है की भारत और चीन के आपसी सम्बन्ध कुछ ख़ास अच्छे नही है . आये दिन दोनों देशो में किसी न किसी बात को लेकर मनमुटाव चलता ही रहता है . चीन भी पाक की तरह हमेशा ही भारत के खिलफ नयी-नयी चाले चलता रहता है लेकिन भारत इसकी किसी चाल को कामयाब नही होने देता और इसको मुंहतोड़ जबाव देता है .

चीन भारत पर अपनी पकड़ बनाना चाहता है जिसके जरिये ये भारत के पड़ोसी मुल्कों नेपाल, बांग्लादेश, पाकिस्तान और श्रीलंका में भारी निवेश के जरिए दबाव बना रहा है . ये तो आप सब ने देखा ही होगा की एक तरफ भारत अरुणाचल प्रदेश और लद्दाख में अपनी सामरिक शक्ति को मजबूत कर रहा है तो वही दूसरी तरफ आधारभूत योजनाओं पर भी तेजी से काम कर रहा है . भारत ने चीन को जबाव देने की सारी तैयारियां कर ली है .

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में सीमांत गांव दुक्तू तक भारत ने सड़क निर्माण करके चीन को साफ़-साफ़ सन्देश दिया है की भारत हर चुनौती के लिए तैयार है . आपको जानकार हैरानी होगी की पहले इस गावं तक पहुचने के लिए पहाड़ की पगडंड़ियों पर 46 किलोमीटर की दुरी तय करनी पड़ती थी . दुक्तू गांव चीन की ज्ञानिमा मंडी के बहुत करीब है . इस गावं तक पहुचने के लिए न्यू सोबला-दारमा मार्ग बनाने में भारतीय इंजीनियरों को कड़ी मशक्कत का सामना करना पड़ा . यह भारत के लिए बहुत बड़ी कामयाबी है .

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि कुछ जानकारों का कहना है चीन की घेराबंदी के लिए जहां भारत को सरहदी राज्यों में अाधारभूत तैयारी को बढ़ाना होगा, वहीं वैश्विक स्तर पर चीन विरोधी देशों के साथ मिलकर मोर्चाबंदी करनी होगी, ताकि चीन पर हर तरह से मनोवैज्ञानिक बढ़त हासिल हो सके !!