पेशाब करते समय यदि पेशाब में दिखे झाग तो हो जाएं सावधान, वरना होगा नुकसान..

अगर पेशाब में आता है झाग तो हो जाएं सावधान..

कुछ लोगों को कभी-कभी झागदार पेशाब होने लगती है. पेशाब में झाग या बुलबुले आने के कई सामान्य व असामान्य कारण हो सकते हैं और इसे लेकर बहुत अधिक चिंतित होने की ज़रूरत नहीं है, लेकिन ये किसी भीतरी गड़बड़ी की ओर इशारा करता है इसलिए मेडिकल जांच से ही इसके कारणों का पता चल सकता है.

मौजूदा खबर अनुसार बता दें कि कई बार बाथरूम में पहले से पड़े रह गए साबुन के पानी या डिटर्जेंट के कारण भी पेशाब में झाग उठता प्रतीत होता है, लेकिन यह किडनी की किसी खराबी का लक्षण भी हो सकता है इसलिए डॉक्टर को सभी लक्षण जल्द बता देने चाहिए. पेशाब का कलर, पेशाब आने की मात्रा और पेशाब में से आने वाली बदबू से ही व्यक्ति के स्वास्थ्य के पता लगाया जा सकता है कि वह व्यक्ति स्वस्थ हैं या बीमारियोें से ग्रस्त है.

पेशाब में झाग आने के होते है ये असामान्य कारण !!

पेशाब में प्रोटीन का आना : किडनी से संबंधित गड़बड़ी के शिकार लोगों में किडनी का एक भाग ग्लोमेरूलाई काम करना बंद कर देता है जिससे पेशाब में प्रोटीन का आना बढ़ जाता है. इस अवस्था में व्यक्ति को प्रोटीन की खुराक लेना तत्काल बंद कर देना चाहिए और पेशाब में प्रोटीन के होने का इलाज करवाना चाहिए. मछलीप्रोटीन ड्रिंक्स और बॉडी बिल्डिंग के लिए पिए जानेवाले ड्रिंक्स में प्रोटीन की बहुत अधिक मात्रा होती है.

यूरीनरी ट्रेक्ट इन्फेक्शन : यूरीन इन्फेक्शन के कारण भी पेशाब में झाग दिखता है. इस दशा में रोगाणु पेशाब के मार्ग में गैस रिलीज़ करते हैं जिससे बुलबुले उठने लगते हैं. इस दशा में व्यक्ति को पेशाब करते समय दर्द या जलन भी हो सकती है. पेशाब की जांच के बाद यूरीन इन्फेक्शन के लिए एंटीबायोटिक दवाएं लेने पर इन लक्षणों का उपचार हो जाता है.

वेसीकोकोलिक फिश्चुला : फिश्चुला एक मेडिकल कंडीशन है जिसमें दो अंगों के बीच किसी गड़बड़ी के कारण रक्त वाहिनियों का कनेक्शन बन जाता है. यूरीन ब्लैडर और आंत के बीच बने कनेक्शन को वेसीकोकोलिक फिश्चुला कहते हैं. यह पुरुषों में महिलाओं की अपेक्षा तीन गुना अधिक देखने में आती है. इसके कारण से पेशाब में झाग आने की समस्या का पता डॉक्टर जांच के द्वारा कर सकते हैं.

देखिये वीडियो !!