DMCA.com Protection Status

सबसे महान है हिन्दू धर्म, इतिहास गवाह है हिन्दुओ ने कभी नही की किसी भी दंगें की शुरुआत !!

आपने सुना होगा कट्टरपंथी और सेक्युलर हिन्दुओ पर हिंसा को बढ़ावा देने का आरोप लगाते रहते हैं।  उनका कहना है कि हिन्दू दंगे करवाते है इसलिए भारत में तनाव बढ़ा है यहाँ तक कुछ मीडिया वाले भी मुस्लिमो को बेकसूर बताते आ रहे है और वे तो आतंकियो को भी शहीद बताते है  ।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कट्टरपंथी की शुरूवात कैसे हुई, किसने की। ग़ौरतलब है कि सबसे पहले मुस्लिम लीग बनाया गया था उसके बाद ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ यानी RSS बना है और ये भी जान लें कि RSS हमेशा से एक राष्ट्रवादी संघटन रहा है। जान लीजिए पहले तक्षशीला जैसे विद्या की बड़ी संस्थाएँ तोड़ी गयी,  अलीगढ युनिवर्सिटी बनी उसके बाद काशी  विश्वविद्यालय बना है । पहले हिन्दुओं के पवित्र सोमनाथ मंदिर को सैंकड़ों बार को तोडा गया लूटा गया, पहले भगवान राम की जन्म स्थली पर औरंगज़ेब ने बाबरी ढाँचा बनाया  ,  राम मन्दिर पर बाबरी मस्जिद बनाई गयी ऑअ उसके बाद ही अयोध्या का आंदोलन हुआ था  । ऐसे ही पहले साबरमती कांड हुआ तब जाकर नरोदा पाट्या हुआ था ।

और भी कुछ याद दिलाते है क्यूँकि अभी बहुत कुछ जानना बाकी है बता दें पहले नओखोली चिट्टागो भंग हुआ बाद में मेरठ हुआ और जिस 2002 पर सबसे ज़्यादा बातें होती है वहाँ सबसे पहले 60 हिन्दू जिंदा जलाए गये तब जाकर गुजरात दंगा हुआ था  ।

यही नहीं पहले मुंबई में हिन्दुओ पर हमले करके भयंकर ब्लास्ट किए गये जिसके बाद बाल ठाकरे व् अन्य हिन्दू नेता मुम्बई में उतरे और सामने आकर सम्मान कि लड़ाई लड़ी। ऐसे ही पहले मुज्जफरनगर में हिन्दुओ की लडकियों को छेडा गया फिर मुज्जफरनगर में दंगे हुए और आतंकियों को सबक़ सिखाया गया । मुसलमान और ईसाईयों ने भारत पर हमले किए इतिहास गवाह है एक भी दंगा हिन्दुओ की तरफ से शुरू नही हुआ है न ही कभी हिन्दुओ ने कट्टरता की शुरुआत की है  । लेकिन हिंदू हमेशा बदनाम किया जाता रहा है । एक शांतिप्रिय मजहब के नाम पर भारत की दो भुजाएँ पाकिस्तान और बांग्लादेश बनाकर काट दी गयी हिंदू की ग़लती रही की वो कुछ नहीं बोला । कश्मीर , केरल , पश्चिमी बंगाल में फिर से वही सब कुछ हो रहा है ।

अरे हिन्दू तो वो है जिन्होंने जैन, बोद्ध और सिक्ख धर्म को जन्मा हैऔर अपनाया भी है,  हिन्दू कभी नफरत फैला नही सकता क्यूंकि नफरत हिन्दुओ के संस्कार में है ही नहीं। इसको पढ़ने के बाद भी जो लोग नेताओं की बातों में आकर हिन्दुओं को बदनाम करते हैं उन्हें अपने गिरेबाँ में झाँक कर देख लेना चाहिए ।

By: Thakur Mintu on Monday, January 9th, 2017

Loading...