महशिवरात्रि विशेष योग आज रात एक दिया चुपचाप ऐसे जला दे घर होगी पैसो की बारिश !

30 साल बाद शिवरात्रि पर महासंयोग, 13 और 14 फरवरी को मनेगी…

देवाधिदेव महादेव के विवाह से जुड़ा पर्व महाशिवरात्रि को लेकर जिले का वातावरण भक्तिमय हो चला है. महाशिवरात्रि 13 फरवरी को मनाई जाएगी. इसके लिए तैयारियां पूरी कर ली गईं हैं. जगह-जगह शिव बारात निकाली जाएगी और झांकियां निकलेंगी. इसके लिए पूजा समितियां और नागरिकों ने कमर कस ली है.

शिवालय और अन्य देवालयों पर शिवरात्रि की तैयारियों के साथ ही बाजार भी सज गए हैं. महाशिवरात्रि पर्व मनाने को लेकर द्विविधा की स्थिति बनी है. यह पर्व 13 फरवरी को मनाया जाएगा या 14 को, इसको लेकर लोग असमंजस में हैं. लेकिन, ज्यादातर जानकार शिवरात्रि 13 को ही मनाने की बात कह रहे हैं. ऐसी स्थिति इसलिए बनी हुई है क्योंकि महाशिवरात्रि फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी तिथि को मनाई जाती है.

13 जनवरी को पूरे दिन त्रयोदशी तिथि है और मध्यरात्रि में 11 बजकर 35 मिनट से चतुर्दशी तिथि लग रही है. जबकि 14 फरवरी को पूरे दिन और रात 12 बजकर 47 मिनट तक चतुर्दशी तिथि है. ऐसे में लोग दुविधा में हैं कि महाशिवरात्रि 13 फरवरी को मनेगी या 14 फरवरी को. इस प्रश्न का उत्तर धर्मसिंधु नामक ग्रंथ में दिया गया है.

इसमें कहा गया है ‘परेद्युर्निशीथैकदेश-व्याप्तौ पूर्वेद्युः सम्पूर्णतद्व्याप्तौ पूर्वैव। यानी चतुर्दशी तिथि दूसरे दिन निशीथ काल में कुछ समय के लिए हो और पहले दिन सम्पूर्ण भाग में हो तो पहले दिन ही यह व्रत करना चाहिए.ज्योतिषियों ने बताया कि सनातन धर्म में महाशिवरात्रि का खास महत्व है. भगवान शिव की आराधना का यह विशेष पर्व माना जाता है.

अधिक जानकारी के लिए देखें नीचे दी गई वीडियो. अगर किसी वजह से वीडियो न चले तो वीडियो देखने के लिए यहाँ क्लिक करें !

अगर आपको दी गई जानकारी पसंद आई तो ऐसी ही और खबरों के लिए हमें फ़ॉलो कीजिए।