हामिद अंसारी की वजह से बर्बाद हुआ एक RAW एजेंट का परिवार, आखिर में अटलजी ने की थी मदद !

अपने विदाई भाषण में देश के मुसलमानों की बुरी हालत का जिक्र करके पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी लोगों के निशाने पर आ गए हैं लोग उन्हें सोशल मीडिया पर जमकर सुना रहे हैं। कई लोगों ने तो उनकी राष्ट्रभावना पर भी सवाल उठा रहे हैं। ऐसे में एक पुराना किस्सा सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है !

बात 1990 के दशक के आखिरी वर्षों की है जब, हामिद अंसारी ईरान मे भारत के Ambassador हुआ करते थे. उस समय तेहरान मे पोस्टेड RAW के जासूस Mr. Kapoor को तेहरान मे किडनेप कर लिया गया. इस young operative को लगातार 3 दिनों तक बुरी तरह टोर्चर किया गया, ड्रग्स के डोज़ दिये गए और आखिर मे उसे तेहरान के सुनसान सड़क पर फेंक दिया गया पर Ambassador अंसारी ने इस मुद्दे पर तनिक भी ध्यान नहीं दिया, न ही भारत सरकार को इस बात की खबर दी .

इसी दौरान कश्मीर के कुछ Trainee इमाम तेहरान के नजीदक Qom नामक Religious Center मे ट्रेनिंग के लिए इकट्ठा होते थे, जिस पर RAW ने नजर रखा हुआ था, और इसकी पूरी जानकारी दिल्ली हेडक्वार्टर भेजा जा रहा था। हामिद अंसारी के एक जानकार के माध्यम से RAW जासूस Mr. माथुर ने इस संगठन मे अपने जासूस फिट किए थे .

 

इसी बीच अचानक Mr. Mathur का भी तेहरान जासूसों ने किडनेप कर लिया, जिसका पूरा शक अंसारी के मुखबिरी का था. इंडियन इंटेलिजेंस खेमा हरकत मे आया और माथुर की तलाश ईरान मे शुरू हुई, पर Ambassador होते हुए अंसारी न कोई मदद किया और नहीं इस घटना की सूचना भारत सरकार को दी गई.

आखिर 2 दिन बाद जब इंटेलिजेंस ऑफिसर के बीबी-बच्चे अंसारी के घर के गेट पर प्रदर्शन करना शुरू किया. पर अंसारी इंटेलिजेंस वालों के परिवार वालों से मिलने से इंकार कर दिया, Mr. माथुर की पत्नी ने अंसारी के केबिन मे घुस उसे बुरी तरह लताड़ा. हताश RAW ने दिल्ली हेडक्वार्टर को इन्फॉर्म किया और तब के PM अटल बिहारी वाजपेयी जी से बात की. PMO के दखल से कुछ ही घंटे मे ईरानी जासूसों ने माथुर को आजाद कर दिया.

माथुर को थर्ड डिग्री दी गयी थी, पर उन्होने तेहरान मे स्थित किसी जासूस या कोई भी सीक्रेट जानकारी उन्हे नहीं दिया पर ईरान स्थित दूसरे RAW agents का मनोबल टूट चुका था.

 

By: Thakur Mintu on Saturday, August 12th, 2017