ट्रम्प ने माना हिन्दुस्तान में है दम अब अमेरिका में भी इंडिया का बोलबाला , मच गयी धूम !!

भारतीय मूल के आशीष अपने हाईब्रिड विमानों के लिए भारत को भी बड़े बाज़ार के तौर पर देख रहे हैं और अमेरिका में तो आशीष ने धूम ही मचा डाली ..

अमेरिका में भारतीय मूल के तकनीकी विशेषज्ञ आशीष कुमार एक ऐसे प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं. जो विमान क्षेत्र को एक नयी दिशा दे सकता है. आपको बता दें कि आशीष कुमार ने आईआईटी दिल्ली से मकैनिकल इंजीनियरिंग की पढाई की है और अब वे यूएस में एक हाईब्रिड इलेक्टिर्क प्लेन बना रहे हैं. जो क्षेत्रीय उड़ान की आवश्यकता को पूरी कर सके. उम्मीद यह है कि इन विमानों का व्यवसायिक उत्पादन 2020 से शुरू होगा. यह विमान 1100 किलोमीटर की उड़ान भरेंगे. आशीष को उम्मीद है कि आने वाले समय में वो ऐसे विमान अपनी मातृभूमि भारत को भी बेच सकें. आशीष ने अपनी कम्पनी वांशिगटन में  किर्कलैंड जूनम एयरो के नाम से बनाई है. वो इसके सीइओ भी है. आशीष ने बताया कि उनकी कम्पनी हाईब्रिड इलेक्ट्रिक एयरक्राफ्ट पर काम कर रही है.

आपको बता दें कि 1100 किलोमीटर की उड़ान भरने वाले एयरक्राफ्ट की कुछ सालो बाद यानि 2030 तक 1600 किलोमीटर बढाई जा सकती है. आशीष के इस वेंचेर में बोईंग और जेट ब्लू जैसी कम्पनियां भी उनका साथ दे रही हैं. उनका कहना है कि शुरु में हम 20 सीटों वाली हाइब्रिड एयरक्राफ्ट को बाज़ार में उतारेंगें और हमें उम्मीद है हम पहली परीक्षण उड़ान अगले दो सालों में भरेंगे. इसके व्यवसायिक उत्पादन के शुरू होने की उम्मीद 2020 की है. विमानों कि उड़ान में खर्च होने वाले इंधन के खर्च का हिस्सा बहुत बड़ा होगा. आशीष का कहना है कि हाइब्रिड विमान इस खर्चे को कम कर सकता है और साथ ही उन्होंने बताया कि हमारे प्लेन को ओपरेट करना एयरलाइंस के लिए बहुत ही सस्ता होगा.

हालांकि यह हाइब्रिड अपनी दुरी तय करने के कारण दुसरे व्यवसायिक एयरक्राफ्ट की तरह ज्यादा ऊँचा नही उड़ सकता. इसकी गति और प्लेनों की तुलना में कम होगी.फिलहाल ये क्षेत्रीय जरूरतों को पूरा कर सकता है और इस हाइब्रिड एयरक्राफ्ट की यही एक ऐसी खूबी है । आशीष ने कहा कि बड़े प्लेन छोटे इलाकों में नही जा सकते और इसीलिए हम इस योजना पर काम कर रहे हैं. हाइब्रिड प्लेनों के बारे में यह दावा किया है यह 80% कम कार्बन उत्सर्जन करेगा । आशीष ने अपनी कम्पनी जूनम एयरो की स्थापना 2013 में की थी.

इतने कम सालों में ही कम्पनी ऐसे हाइब्रिड टू इलेक्ट्रिक एयरक्राफ्ट बना रही है जो कम दुरी की यात्रा के अनुकूल है. कम्पनी का लक्ष्य यह है कि कम्पनी को 1000 मील का इलेक्ट्रिक एयर नेटवर्क बनाना है. ताकि हर व्यक्ति को कम से कम दामों में यात्रा का लाभ हो. इसीलिए कहा जा सकता है कि भारतीय मूल आशीष ने अमेरिका में धूम मचा दी है.

By: Jyoti Kala on Saturday, April 8th, 2017

Loading...