देखिये एक सच्चाई और दिखावट के बीच का यह अन्तर !!

अक्सर यह कहा जाता है यदि आप किसी से सम्मान प्राप्त करना चाहते हो तो आपको पहले दूसरो को सम्मान देना आना चाहिए . जैसा कि आपको पता ही होगा कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बहुत बड़ी संख्या में फैन है . केवल इसलिए नही कि वह एक महान नेता है बल्कि इसलिए भी की वह एक अच्छे इन्सान भी है .

बता दें कि जब प्रधानमंत्री मोदी जी ने अफगानिस्तान के राष्ट्रपति के साथ स्वर्ण मंदिर के दौरे पर गये थे . तब विपक्ष ने यह अफवाह फैलाई थी कि मोदी जी ने स्वर्ण मंदिर में जूतों के साथ प्रवेश किया था लेकिन जल्द ही सच्चाई सबके सामने आ गयी थी .

यहाँ तक की विपक्ष ने भी माना कि मोदी जी सभी को सम्मान देते है और उनका व्यवहार सभी के साथ अच्छा है . बता दें कि मोदी जी ने स्वर्ण मंदिर के रसोई  में नंगे पैर प्रवेश किया और लोगो को खाना बांटकर लंगर में सेवा भी की . दरअसल ऐसा काम करने वाले वह भारत के पहले प्रधानमंत्री बने और इन तस्वीरो में आप देख सकते है कि उन्होंने मंदिर में नंगे पांव प्रवेश किया था .

हाल ही में दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को भी लंगर में सेवा करते हुए देखा गया लेकिन इन तस्वीरो से तो यह साफ़ है कि यह काम उन्होंने केवल लोगो को दिखाने के लिए किया था दरअसल आम आदमी पार्टी यह पचा नही पा रही थी कि मोदी जी के इस काम के लिए उन्हें इतनी तारीफे मिल रही थी .इसलिए उनकी देखा देखी सिसोदिया भी लंगर में लोगो को खाना बाँटने तो पहुँच गये परन्तु इस काम के लिए उन्होंने अपने जूते उतरना जरुरी नही समझा .

क्या आपीए लोगो को इसी प्रकार सम्मान देते है ??

 

By: Jyoti Kala on Thursday, January 5th, 2017

Loading...