कांग्रेस ने दिखाई नीचता, महाराणा प्रताप को लेकर दिया विवादित बयान !

जैसा की आप जानते ही हैं कि यूपी के नये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बन चुके है और वे इस पद को सम्भालते ही वे देश की जनता के हित को ध्यान में रखते हुए यूपी में अपने ज़बरदस्त फ़ैसलों से सकारात्मक बदलाव कर रहे है  । जहाँ एक तरफ योगी आदित्यनाथ बच्चो को महाराणा प्रताप को आदर्श बताने की सीख दे रहे है तो वही कांग्रेस के एक अधिकारी महाराणा प्रताप पर विवादित बयान दिया है और राजपूत संगठन से दुश्मनी मोल ली है .

image credit

अब पढ़े पूरी खबर विस्तार :- दरअसल कांग्रेस के नेता कमलाकर त्रिपाठी ने महाराणा प्रताप को लेकर ये बयान दिया है कि महाराणा प्रताप उनके आदर्श नही हो सकते क्यूंकि वो एक हारे हुए योद्धा थे ये बयान कांग्रेस के प्रवक्ता कमलाकर त्रिपाठी ने बुधवार को एक बहस के दौरान दिया था उनके इस बयान के बाद राजपूतो ने उनका जमकर विरोध किया लेकिन फिर भी उनपर कोई असर नही पड़ा .

कांग्रेस इस तरह के विवादित बयान पहले भी कई बार दे चुकी है और इस बार भी ये जानते हुए कि इस विवादित बयान के बाद कांग्रेस की मुश्किल और भी बढ़ सकती है फिर भी वो अपने बयान से पीछे नही हटे, फिलहाल कांग्रेस के इस बयान के बाद विश्व हिन्दू परिषद के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल ने कहा है कि ये बहुत दुर्भाग्य की बात है कि महाराणा प्रताप जैसे वीर योद्धा को अपना आदर्श मानने के बजाय अकबर और औरंगजेब जैसे आतंकी शासको को अपना आदर्श मानते है .

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कांग्रेस नेता का ये विवादित बयान उस समय आया है जब पुरे देश में राजपूतो द्वारा महाराणा प्रताप की जयंती पर विशेष कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे है राजपूत महाराणा प्रताप को अपने आदर्श के रूप में स्थापित करने के लिए बहुत प्रयास कर रहे है यहाँ तक उनकी विशाल प्रतिमा लगाने की भी बात होने लगी है .

फिलहाल ऐसे में दिए गए कांग्रेस द्वारा विवादित बयान का देश की जनता पर क्या असर पड़ता है और कांग्रेस का क्या हाल होने वाला है ये तो आने वाला वक्त ही बतायेगा .

By: Thakur Mintu on Friday, May 12th, 2017