DMCA.com Protection Status

चीन के राष्ट्रपति पर भड़की चीनी मीडिया कहा “मोदी से कुछ सीखो”

इस समय पूरी दुनिया में पीएम मोदी का जादू छाया हुआ है . दुनिया का लगभग हर देश मोदी की पॉलिसी और रणनीति का दीवाना है . बताया जा रहा है कि दुनिया की अर्थव्यवस्था को इस वक्त भारतीय अर्थव्यवस्था एक बड़ी चुनौती दे रहा है . इस बीच नोटबंदी का फैसला हुआ तो भारत के विरोधी देशों को लग रहा था कि अब भारत की रफ्तार धीमी पड़ जाएगी लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं हुआ . चीन और पाकिस्तान तो ये देखकर परेशान हो गए हैं .

 

बता दें कि चीनी अर्थशास्त्रियों ने जिनपिंग को चेतावनी देते हुए कहा कि भारत लगातार आगे बढ़ रहा है और इकनॉमिक रिफॉर्म्स के क्षेत्र में अपने कदम मजबूत कर रहा है . चीन के अर्थशास्त्रियों का कहना है कि नोटबंदी के बाद भी भारत की अर्थव्यवस्था पर ज्यादा असर नहीं पड़ेगा . बता दें कि चीन के अखबारों ने तो जिनपिंग को चेतावनी दे डाली है . चीन के एक बड़े अखबार “ग्लोबल टाइम्स” ने भी चीन की सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि आने वाला वक्त सिर्फ भारत का ही होगा .

सिंगापुर नैशनल यूनिवर्सिटी ऑफ सिंगापुर में ली कुआन यू स्‍कूल ऑफ पब्लिक पॉलिसी के डीन किशोर महबूबानी का कहना है कि आने वाले समय में चीन की अर्थव्यवस्था के मुकाबले भारतीय अर्थव्यवस्था कई गुना आगे रहेगी . नोटबंदी का कुछ असर भारत की इकनॉमी पर दिख सकता है लेकिन इस मामले में भारत की अर्थव्यस्था चीन को पीछे छोड़ सकती है इसलिए कहा जा सकता है कि भारत की इकनॉमी चीन को कड़ी टक्कर देने जा रही है .

चीन के ही अर्थशास्त्रियों की इन बातो से साफ़ है कि वह चीन को चेतावनी दे रहे है . कहा जा रहा है कि चीन के राष्ट्रपति ने अर्थशास्त्रियों से सावधान रहने के लिए कह रहे हैं . बता दें कि आने वाले वक्त में एक बार फिर से जिनपिंग को उधार की जरूरत पड़ेगी . दुनिया के कई देशो से उधार लेकर चीन का वैसे ही बुरा हा है और अब पीएम मोदी की ताकत के सामने उसका आखिरी हथियार एक बार फिर से उधार ही है . अब यह देखना दिलचस्प होगा कि अर्थव्यवस्था की इस रेस में कौन बाजी मारता है .

By: Jyoti Kala on Monday, January 9th, 2017

Loading...