दर्दनाक मंजर : राम भक्तों पर केस चलेगा लेकिन,राम भक्तों पर जुल्म करने वालों के खिलाफ कब ऐसा होगा ?

आज माननीय सुप्रीम कोर्ट ने बाबरी मस्जिद तोड़ने के आरोप में बीजेपी और विहिप के 13 नेताओं पर अपराधिक केस चलाने का हुक्म दिया है !

लेकिन निर्दोष कारसेवकों के ऊपर जुल्म जो हुए थे उसको लेकर कोई टिप्पणी आज तक नहीं आई.जय श्री राम के नारे लगते रहे और डंडे उन पर बरसते रहे.6 दिसम्बर, 1992 को अयोध्या में देश की बहादुर जनता नें देश के माथे पर लगा गुलामी के कलंक का टीका हमेशा के लिये हटा दिया था।

उस दिन के बाद से देश के जो लोग अपने को राम का वंशज मानते हैं, भारत की संतान मानते हैं तथा भारत की विजय में अपनी विजय और भारत की पराजय में अपनी पराजय मानते हैं 6 दिस० को गौरव का दिवस मानते हैं।

परन्तु वे लोग जो अपने आप को राम के साथ जोडने में शर्म महसूस करते हैं तथा अपने स्वार्थ के लिये भारत के दुश्मनों के साथ हाथ मिलाने में संकोच नहीं करते, जो वोटों की राजनीति के चलते बाबर जैसे हमलावरों को महिमामंडित करने में गौरव महसूस करते हैं,वे सभी इस दिन को शर्म का दिन कहकर पिछले १८ वर्षों से निरंतर विधवा-विलाप कर रहे हैं।

देखे ये जुल्मों का विडियो आप इस विडियो को देख रो पड़ोगे :

By: hindutva Info Writer on Wednesday, April 19th, 2017