Breaking News : NIA के हत्थे चढ़ा अलगाववादी नेता गिलानी का बेटा, कहा – अब किसी गद्दार को नहीं छोड़ेंगे!

लो शुरू हुए गिलानी के बुरे दिन !!

अभी अभी आई एक बड़ी खबर के मुताबिक़ आपको बता दें कि टेरर फंडिंग केस में NIA ने आज कश्मीर के बड़े अलगाववादी नेता और हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के प्रमुख सैयद अली शाह गिलानी के बेटों से पूछताछ की है !

एजेंसी ने नईम और नसीम से मामले से जुड़े कई सवाल किए. गिलानी को पाकिस्तान समर्थक अलगाववादी नेता माना जाता है. बता दें कि NIA इस मामले में गिलानी के दामाद अल्ताफ अहमद शाह (अल्ताफ फंटूश) समेत कश्मीर के 7 अलगाववादी नेताओं को गिरफ्तार कर चुकी है.

बताते चले, NIA ऑफिशियल्स ने बताया कि गिलानी के बेटों को समन भेजा गया था. जिसके बाद वे सुबह करीब 11 बजे नई दिल्ली में एजेंसी के हेडक्वार्टर पहुंचे, जहां उनसे पूछताछ की गई. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि गिलानी का बड़ा बेटा नईम एक डॉक्टर है और पाकिस्तान में भी रह चुका है. एजेंसी ने उसे 27 जुलाई और एक अगस्त को समन भेजा था.

लेकिन तबीयत खराब होने के कारण चलते वह एजेंसी के सामने पहले पेश नहीं हो सका था और  गिलानी का छोटा बेटा नसीम श्रीनगर में एक एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी में काम करता है. उसे 2 अगस्त को समन भेजा गया था, लेकिन वह भी एजेंसी के सामने पेश नहीं हुआ था. नसीम ने तर्क दिया था कि उसे वाइस चांसलर के जरिये नोटिस भेजी जाए ताकि वह एजेंसी के सामने पेश होने के लिए छुट्टी ले सके और ट्रैवल अलाउंस का दावा भी कर सके.

बता दें कि एनआईए ने 3 अलगाववादी नेताओं नईम खान, गाजी जावेद बाबा और बिट्टा कराटे को मई में दिल्ली बुलाकार पूछताछ की थी. उसी दौरान इन्होंने पाकिस्तान से फंडिंग की बात मानी थी. इससे पहले मई में ही एनआईए ने तहरीक-ए-हुर्रियत के नेता बाबा और JKLF के नेता कराटे से श्रीनगर में भी लगातार 4 दिनों तक पूछताछ की थी। उस दौरान उनसे कश्मीर में हिंसा के लिए हवाला चैनलों के जरिए फंड जुटाने के आरोप पर सवाल किए गए थे.

अलगाववादी नेताओं पर आरोप है कि इन्हें कश्मीर में सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने, स्कूलों और अन्य सरकारी संस्थानों को जलाने जैसे विध्वंसक गतिविधियों के लिए लश्कर चीफ हाफिज सईद से पैसा मिलता है. घाटी में सिक्युरिटी फोर्सेस पर पत्थर बरसाने के लिए हुर्रियत नेताओं को पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठनों और पाक खुफिया एजेंसी ISI दोनों से फंडिंग होती है.