दिग्गी के गढ़ में भाजपा-कांग्रेस कार्यकर्ताओं में हुई भिड़ंत, क्षेत्र में कर्फ्यू के बाद धारा 144 लगाई

गुना। मध्य प्रदेश के गुना जिले में दिग्विजय सिंह के गृह क्षेत्र राघौगढ़ में आज कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ताओं में भिड़ंत हो गई। इस टकराव के बाद यहाँ धारा 144 लागू कर दी गई। इससे पूर्व स्थिति बिगड़ने पर प्रशासन ने कर्फ्यू लगा दिया था। कर्फ्यू हटा दिया गया है लेकिन सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। राघौगढ़ में अगले सप्ताह नगर पालिका चुनाव होने हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार को दिग्विजय सिंह के गृह क्षेत्र में प्रचार के लिए पहुंचे थे। मुख्यमंत्री के रोड शो और आमसभा के बाद भाजपा और कांग्रेस के कार्यकर्ता आमने-सामने हो गए। दोनों के बीच विवाद इतना बढ़ा कि पुलिस को हालात पर काबू पाने के लिए लाठीचार्ज करने के साथ आंसू गैस के गोल दागने पड़े। इसके बावजूद भी उपद्रव नहीं थमा तो पुलिस ने कर्फ्यू लगा दिया। बताया जा रहा है कि विवाद की शुरुआत असामाजिक तत्वों के देर रात को बंद पड़ी दुकानों के बाहर लाठियों से तोड़फोड़ करने से शुरू हुआ। इसके बाद तनाव फैलना शुरू हो गया और भाजपा व कांग्रेस कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए। इस दौरान जमकर पथराव और तोड़फोड़ हुई। दोनों पक्षों में हुए टकराव में चार लोग घायल हो गए।राघोगढ़ में सुरक्षा बल की तैनाती
राघौगढ़ में तनाव को देखते हुए जिला मुख्यालय के अलावा आसपास के इलाकों से भी अतिरिक्त पुलिस को तैनात किया गया है। पूरे राघोगढ़ में चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाबल लगाए गए हैं। विवाद के दौरान कांग्रेस की तरफ से दिग्विजय सिंह के बेटे और स्थानीय विधायक जयवर्धन सिंह सामने आए और उन्होंने थाने का घेराव कर दिया। इस दौरान भाजपा की तरफ से नजदीक की विधानसभा सीट चांचौड़ा से विधायक ममता मीणा ने भी मोर्चा संभाल लिया।देर रात विवाद बढ़ने के बाद जयवर्धन सिंह के समर्थन में उनके चाचा और सीनियर कांग्रेस नेता लक्ष्मण सिंह भी राघौगढ़ पहुंच गए थे।