DMCA.com Protection Status

आश्चर्यजनक: भगवान विष्णु के सांपों के बिस्तर पर सोने के पीछे हैं ये 4 कारण !!

भगवान विष्णु हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार पुरे ब्रह्माण्ड के देवता माने जाते है. वैसे तो सनातन धर्म में ब्रह्मा विष्णु महेश तीनों को ही महत्व दिया जाता है. इन तीनों में से विष्णु भगवान के कई अवतार है. सभी अवतारों में से भगवान विष्णु का एक ऐसा अवतार है जिसके बारे में शायद ही कोई जानता होगा. हम बात कर रहे है भगवान विष्णु के शेषनाग के अवतार की. इस अवतार में भगवान हमेशा सांपों के बिस्तर पर आराम करते रहते है. लेकिन ये सापों के बिस्तर के पीछे क्या कारण है ये हम आपको आज बताने जा रहे है.

भगवान विष्णु के इस सापों के बिस्तर को अनंत-शैय्या कहा जाता है और इस विशाल सर्प को शेषनाग कहा जाता है.

  • पुराणों के अनुसार भगवान विष्णु का शेषनाग अवतार समय का मार्गदर्शक है जो पृथ्वी पर पाप अधिक होने पर उनका निवारण करता है.
  • भगवान विष्णु के सापों के बिस्तर पर आराम करने का मतलब है कि वह उस समय खुद की ऊर्जा को एकत्रित करते है. इस बिस्तर पर विश्राम करते समय ही भगवान विष्णु अपने विचारों से भलीभांति अभिव्यक्त कर पाते थे.
  • सभी ग्रहों, मन्त्रों पर नियंत्रण करने के लिए भी वो सांपों में लेटे रहते है. 
  • सांपों पर भगवान विष्णु का लेटना केवल आराम करना नहीं बल्कि वह रक्षक भी हैं. क्यूंकि भगवान कृष्ण के पिता वासुदेव उन्हें नंद के घर सही सलामत शेषनाग की कृपा दृष्टि से ही पहुंचा पाए थे. इसी कारण से भगवान विष्णु का ये रूप रक्षक भी है. 

By: Staff Writer on Friday, February 10th, 2017

Loading...