हिंदुत्व इंफ़ो का ख़ुलासा : मीडिया वाले CRPF जवान को लेकर मोदी के ख़िलाफ़ रच रहे साज़िश !!

आपको पता ही है एक जवान तेज़ सिंह यादव का विडीओ आया था जिसमें उन्होंने खाने को लेकर काफ़ी शिकायतें की थी आपने वो विडीओ सुना भी होगा और उस विडीओ की सब जगह काफ़ी चर्चा भी हुई थी । नीचे देखें वो विडीओ ।

ये विडीओ आप सबने सुना है और देखा भी है , हालाँकि सरकार ने और गृहमंत्री ने इस विडीओ के बाद ज़रूरी करवाई शुरू कर दी है , तेज़ सिंह यादव ने उसके बाद ये इल्ज़ाम लगाए कि उन्हें पलंबर बना दिया गया है क्यूँकि उन्होंने विडीओ अपलोड कर दिया था , वहीं तेज़ सिंह यादव पर ये इल्ज़ाम भी लगे थे कि वे काफ़ी बार पहले भी बदतमीजियाँ कर चुके हैं । ख़ैर हम किसी जवान ने विषय में कुछ नहीं कहना चाहते और इतना ही कहते हैं हर जवान को बढ़िया से बढ़िया खाना और बढ़िया से बढ़िया सुविधाएँ मिलनी ही चाहिएँ चाहें तेज़ सिंह के आरोप सच्चे हो या फिर झूठे हों ।

लेकिन तेज़ सिंह यादव के विडीओ के बाद मीडिया वालों आज एक और विडीओ जारी कर ये दावा किया है कि तेज़ सिंह यादव के बाद जीत सिंह का विडीओ आया है जो CRPF के जवान हैं और उन्होंने भी शिकायत की है । लेकिन इसमें मीडिया वालों की एक भयानक करतूत छिपी है जिसका ख़ुलासा हम आपको बाद में इसी लेख में करेंगे । पहले देखें बड़े बड़े मीडिया वालों की ख़बरों के स्क्रीन्शाट

अमर उजाला की आज की ख़बर 

आप देख लीजिए ये अमर उजाला की वेबसाइट की ख़बर है , जिसमें उन्होंने लिखा है कि तेज़ सिंह यादव के बाद CRPF जवान ने अपना दर्द बयान किया है । ये ख़बर 12 Jan 2017 को 4.40 AM पर अमर उजाला ने डाली है । यहाँ क्लिक करके इस ख़बर को आप पढ़ सकते हैं । 

न्यूज़ 24 की रिपोर्ट देखें 

इन्होंने भी लिखा है तेज बहादुर के बाद अब CRPF जवान ने बयां किया दर्द, वीडियो वायरल और इन्होंने ये लेख आज ही अपनी वेबसाइट पर पब्लिश किया है । यहाँ क्लिक करके आप इनका लेख भी पढ़ सकते हैं

ABP न्यूज़ की ख़बर भी ज़रूर देखें 

आप देख लें ये भी आज की रिपोर्ट है और इन्होंने भी लिखा है कि BSF जवान के बाद अब CRPF जवान ने सुविधाओं को लेकर उठाए सवाल  । आप इनकी ख़बर को यहाँ क्लिक करके पढ़ सकते हैं जो आज 12 Jan 2017 की सुबह ही लिखी गयी है । 

अब क्रांतिकारी चैनल आज तक की इस पर ख़बर भी देखें 

ज़ाहिर है इन्होंने भी यही कहा है कि BSF जवान के बाद अब CRPF जवान ने आरोप लगाया है इनकी ख़बर भी 12 Jan 2017 की ही है और इनकी ख़बर आप यहाँ क्लिक करके पढ़ सकते हैं । 

अब एक और देख लीजिए Indian Express समूह के Financial Express की ख़बर 

ज़ाहिर है इनकी ख़बर भी आज की लिखी हुई है और इन्होंने भी बताया है कि BSF जवान के बाद अब CRPF जवान ने Heart -Rending विडीओ से मोदी जी को संदेश भेजा है । यहाँ क्लिक करके आप इनको भी पढ़ सकते हैं । 

आपने ऊपर देखा कितने बड़े बड़े मीडिया के लोगों ने लिखा है कि BSF के जवान तेज़ सिंह यादव के बाद अब CRPF जवान जीत सिंह ने भी ख़राब  सुविधाओं की बात कहीं है और मोदी जी के नाम संदेश दिया है क्या आपको एक नज़र से देखने में इसमें कोई साज़िश नज़र आती है  ?? आपको ये भी बता दें कि ऐसा नहीं है इस ख़बर को ऊपर दिए गए पाँच मीडिया के लोगों ने ही छापा है बल्कि लगभग हर मीडिया ने इस ख़बर को छापकर मोदी सरकार की खिंचाई की है ।

अब हम आपको बताते हैं कि क्यूँ ये अवॉर्ड वापसी , असहिस्नूता के ड्रामे के बाद इन मीडिया के लोगों और विरोधी पार्टियों का मोदी सरकार को बदनाम करने का बड़ा खेल है और हम ये बात बिना सबूत के यूँ ही नहीं कह रहे हैं  , दरसल जिस विडीओ क्लिप को ये सभी मीडिया के लोग BSF के जवान तेज़ सिंह यादव के बाद आयी विडीओ क्लिप बता रहे हैं । CRPF के जवान का वो विडीओ 16 Oct 2016 को ही YOU TUBE पर आ चुका था और काफ़ी पहले का है । लेकिन अब तेज़ सिंह यादव के विडीओ के बाद जान बूझकर उसको दोबारा प्लांट किया गया और दिखाया जा रहा है । नीचे के दो स्क्रीन्शाट देखें

पहली बार इस विडीओ को ICELAND MUNSYARI नाम के इस You Tube चैनल ने 16 Oct 2016 को You Tube पर अपलोड किया था । आप नीचे की फ़ोटो देखें ।

इस चैनल के इस विडीओ को आप यहाँ नीचे देखें

यही नहीं एक और You Tube चैनल Vikash Duhan ने भी इस विडीओ को 16 Oct 2016 को You Tube पर अपलोड कर दिया था । आप नीचे की ये फ़ोटो भी देखें ।

उनके इस विडीओ को देखने के लिए आप यहाँ क्लिक करें   । जो भी तेज़ सिंह ने कहा है वो सही भी हो सकता है और उस पर जाँच करने के बाद ग़ौर भी किया जाना चाहिए । लेकिन सबसे बड़ा सवाल ये उठता है कि सारे मीडिया वाले बिना जाँच पड़ताल किए किसके इशारे पर ये विडीओ आज 12 Jan 2017 का बता रहे हैं । आप मीडिया वालों की चालाकी देखेंगे तो उन्होंने अपनी वेबसाइट , टीवी और You Tube पर भी ये आज की तारीख़ का विडीओ डालकर दिखाया है ?

अब सबसे बड़े सवाल पैदा हो रहे हैं ये क्यूँ हो रहा है ? किसके इशारे पर हो रहा है ? कौन लोग मोदी जी को इस तरह से फँसकर बदनाम करना चाहते हैं  ???  ये सब बेहद गंभीर सवाल है । हमारा सभी मीडिया वालों से अनुरोध है जिन्होंने भी ये विडीओ आज का बोलकर दिखाया है उनको तुरंत बिना शर्त माफ़ी माँगनी चाहिए और सभी माध्यम जहाँ जहाँ उन्होंने ये ख़बर ग़लत तरीक़े से दिखायी है वहाँ बताना चाहिए कि ये ख़बर आज की नहीं बल्कि पहले ही है और हम भारत सरकार से अनुरोध करते हैं ऐसे झूठे पत्रकारों पर ज़रूरी करवाई करे ।

By: Jindal on Thursday, January 12th, 2017

Loading...