सीमा पर हुई चहल कदमी में आयी तेजी ,आखिर क्या है अगली और ख़ामोश रणनीति …….??

सेना की रणनीति जोरों पर !!

जिस तरह हालत भारत-पाकिस्तान की सीमा पर दिन-ब-दिन बद से बद्द्तर होते जा रहे हैं ख़ास तौर पर पाकिस्तान की तरफ से हर दिन सीमा पर सीज फायर का उल्घंन होता जा रहा है . यह देख भारतीय सेना अब ठोस कदम उठाने की तैयारी में नज़र आती है.

सूर्त्रों के मुताबिक पता चला है कि एलओसी पर नौशेरा से लेकर पुंछ तक दुश्मन के नापाक साजिशों पर एक साथ जवाबी कार्रवाई की रणनीति के तहत तैयारियां की जा रही है. इसके लिए एलओसी से सटे डेट यूनिट (गोला बारूद भंडारण यूनिट) में गोला बारूद का जखीरा भेजा जा रहा है.

बैट हमले के बाद ही एलओसी पर सेना को हाई अलर्ट पर रखा गया है. अकेले में जवानों की पेट्रोलिंग बंद कर दी गई है. पेट्रोलिंग के लिए ग्रुप में ही जवानों को भेजा जा रहा है. भारत की ओर से फारवर्ड पोस्ट पर निगरानी बढ़ाई जा रही है.ऐसे में भारतीय जवान दुश्मन की हर छोटी से छोटी हलचल पर निगाये जमाये हुए हैं .
यह सब देख सीमा पर रहे लोगों में डर का माहौल बनता जा रहा है. उन्हें लगता है कि अगर हालत और ज्यादा खराब होते हैं तो सबसे ज्यादा खतरा उन्हें ही है. चाहे शुरुआत कोई भी करे लेकिन सबसे ज़्यादा नुकसान उन्हें ही उठाना पड़ेगा इसलिए उनके मन में ख़ामोशी है और आने वाले तूफ़ान का इतंज़ार भी  , हालाँकि हर देशभक्त चाहता है कि एक बार आर पार हो ही जाए क्यूँकि पाकिस्तान की करस्तानियों का और कोई हल तो नज़र नहीं आता.