विडियो : आखिर क्या राज छिपा है ब्लेड के बीच बने डिज़ाइन में,आप भी जानकर रह जाएंगे हैरान !

आखिर क्या राज छिपा है ब्लेड के बीच बने डिज़ाइन ?

ब्लेड हमारे रोज मर्रा के जरूरतों में से एक ऐसी चीज़ है, जिसकी जरुरत सभी को पड़ती है खासकरके आदमियों को तो विशेष रूप से. मर्दों को शेविंग करने और बाल काटने में विशेष रूप से ब्लेड की आवश्यकता होती है. ये तो हो गयी ब्लेड की जरूरतों की बात लेकिन अब बात करते हैं.

इसके आविष्कार की, जिन लोगों को ये न पता हो की ब्लेड का अविष्कार कैसे और कब हुआ था.वो ये जान लें की ब्लेड का आविष्कार वर्ष 1901 मशहूर जिलेट कंपनी के संस्थापक किंग कैंप जिलेट ने किया था. ब्लेड की जो खास डिज़ाइन है वो इन्होने खुद अपने एक सहयोगी के साथ मिलकर बनायीं थी.

तब से लेकर आजतक ब्लेड का सिर्फ एक ही डिज़ाइन मार्किट में आया है और बाद में आयी तमाम कंपनीयाँ इसी डिज़ाइन को फॉलो करती आयी है. चाहे वो टोपाज़ हो या फिर मारफक। सोचने वाली बात है ब्लेड तो हम सभी इस्तेमाल करते हैं. लेकिन क्या कभी हम में से किसी ने ये सोचा है की ब्लेड के बीच में जो डिज़ाइन बनी होती है वो क्यों होती है. जब जिलेट ने पहली बार ब्लेड का उत्पादन किया था.

देखें नीचे दी गई वीडियो. अगर वीडियो किसी वजह से न चले तो वीडियो देखने के लिए यहाँ क्लिक करें !

तो पहली बार उन्होंने महज 165 ब्लेड के डिज़ाइन बनवाये थे. ब्लेड के बीच में जो खाली डिज़ाइन छोड़ा गया था वो विशेष तौर पर इसलिए छोड़ा गया था, ताकि शेविंग करते वक़्त ब्लेड को आसानी से बोल्ट में सेट किया जा सके. यही कारण है की ब्लेड के बीच में विशेष रूप से ऐसी डिज़ाइन बना के जगह छोड़ दी जाती है, ताकि वो शेविंग हैंड में आसानी से फिट हो सकें.

जिलेट ने ही पहली बार शेविंग रेजर भी बनाया था जिसे आज दुनिया भर की कंपनी कॉपी करती है. सबसे पहले जिलेट ने ब्लू जिलेट ब्लेड नाम से जिलेट ब्लेड का उत्पादन किया था, मर्दों के लिए जिलेट पहली बार एक सौगात लेकर आया था जो उनकी शेव करने की समस्या का एक परमानेंट इलाज था.

अगर आपको हमारा आर्टिकल पसंद आया तो लाइक, शेयर और फॉलो करना न भूले.

By: Jindal on Wednesday, October 11th, 2017