वीडियो : आज है साल की पहली उत्पन्ना एकादशी 2017: बस एक दीया बदल देगा आपका भाग्य।

13  नवंबर से एकादशी शुरू हुई है जो आज 14 नवंबर तक है और आज रात को 12:00 बजे उस का शुभ मुहूर्त खत्म हो जाएगा आज रात कर ले एक काम जिससे आपका भाग्य चमक उठेगा।

हिन्दु मान्यताओं के मुताबिक एकादशी व्रत की खास अहमियत है. हिंदू धर्म में और हिंदू धर्म ग्रंथों में  इस व्रत के बारे में सब कुछ बताया गया है एकादशी का व्रत जो कोई भी कर ले उसके सारे कष्ट दूर हो जाते हैं लेकिन अभी समय निकल चुका है लेकिन एक छोटा सा टोटका भी अगर आज रात को आप कर लेते हैं तो उसका भी आपके जीवन पर काफी ज्यादा प्रभाव रहेगा ।

मार्गशीर्ष मास में कृष्ण पक्ष एकादशी को उत्पन्ना एकादशी कहा जाता है. उत्तर भारत में यह एकादशी मार्गशीर्ष मास में जबकि महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक, आंध्रप्रदेश में उत्पन्ना एकादशी कार्तिक मास में आती है.

क्या है मान्यता?

क्या आप जानते हैं एकादशी नाम किस तरह पढ़ा था इसको लेकर भी हिंदू धर्म में पूरी तरह से इसका वर्णन किया गया है आपकी जानकारी के लिए बता दे कि हमारे हिंदू धर्म की पौराणिक कथाओं के मुताबिक माना जाता है कि इस दिन देवी एकादशी का जन्म हुआ था. उन्होंने मुर नामक राक्षस को मारकर भगवान विष्णु जी की रक्षा की थी. उसके बाद से देवी एकादशी जीत की खुशी में इसी दिन से एकादशी व्रत की शुरुआत मानी जाती है. यह व्रत सुबह से शुरू होना था लेकिन हम भी माफ़ी चाहते हैं हमें इसकी जानकारी नहीं मिल पाई लेकिन अब हम आपको इसका एक दूसरा तरीका भी बता रहे हैं जिसे आप अपना सकते हैं।

कैसे करें यह व्रत?

– सुबह जल्दी उठकर ब्रह्म मुहूर्त में पूजा करनी चाहिए.

– इस व्रत को रखने से कई जन्मों के पाप मिट जाते है.

– इस व्रत को रखने से लोग सर्वश्रेष्ठ लोक में स्थान पा सकते हैं.

–  व्रत रखने से छल कपट की भावना मन से कम हो जाती है और मोहमाया के  प्रभाव से मुक्त हो जाता है.

क्या है शुभ मुहर्त?

– एकादशी तिथि आरंभ का होने का समय- 13 नवंबर 2017 को 12.24 बजे

– एकादशी तिथि समाप्त होने का समय- 14 नवंबर 2017 12.24 बजे तक

– पारण तिथि- 14 नवंबर  06:44 से 08:55 तक

हालांकि यह वीडियो में YouTube से प्राप्त हुई है लेकिन इस वीडियो में दी गई जानकारी हमारी नजर में बिल्कुल सही है बाकी हिंदुत्व डॉट इंफो यानी हम इसकी पुष्टि नहीं करते हैं बाकी यह सब हमारी श्रद्धा के ऊपर निर्भर करता है कि हम क्या मानते हैं और क्या नहीं मानते हैं अगर आप को इस को बताया गया टोटका सही लगता है तो आप इसे जरूर अपना सकते हैं।