कर्नाटक अपने दम पर जीतेंगे, किसी का समर्थन नहीं लेंगे: अमित शाह

0
63

Sharing is caring!

कर्नाटक विधानसभा चुनाव प्रचार के अंतिम दिन भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने दावा किया कि भाजपा कर्नाटक में 130 सीटें जीतेगी. उन्होंने ये दावा एक संवाददाता सम्मेलन में किया.

इस दौरान उन्होंने कांग्रेस पर कई आरोप लगाते हुए वर्तमान सिद्धारमैया सरकार को आज़ादी के बाद से सबसे विफल सरकार बताया और उस पर तुष्टिकरण की राजनीति का आरोप लगाया.

अमित शाह ने प्रेस कॉन्फ़्रेंस में जो कहा, उसकी प्रमुख बातें

1. कर्नाटक में चुनाव प्रचार के दौरान मैंने 50 हज़ार किलोमीटर की यात्रा की है मुझे यह कहने में कोई झिझक नहीं है कि सिद्धारमैया सरकार आज़ाद भारत की सबसे विफल और निकम्मी सरकार रही है.

2. पांच साल के अंदर 3,500 से ज़्यादा किसानों ने कर्नाटक में आत्महत्या की. किसानों की आत्महत्या में 173 फ़ीसदी की वृद्धि हुई है. तो दूसरी ओर महाराष्ट्र में जब से भाजपा सरकार बनी है तो वहां तीन साल में किसानों की आत्महत्या में 42 फ़ीसदी कमी आई है.

3. कांग्रेस के शासन के दौरान कर्नाटक में क़ानून व्यवस्था बद से बदतर हुई है. किसी अफसर को आत्महत्या करनी पड़ती है, कोई होटल में खाना खाता होता और एमएलए का बेटा उसे मार दिया जाता है, किसी 12 साल की बच्ची से रेप की कोशिश होती है और पकड़े जाने के डर से उसे मार दिया जाता है.

4. कांग्रेस अपनी परंपरागत आदत के अनुरूप अलोकतांत्रिक तरीके से चुनाव जीतने की कोशिश कर रही है. जिस प्रकार से फ़र्जी आईकार्ड, प्रिंटर, कलर प्रिंटर, कंप्यूटर मिले हैं. कांग्रेस किसी भी तरह से चुनाव जीतने का प्रयास कर रही है. कांग्रेस इसका आरोप भी भाजपा पर मढ़ती है. जब जांच थोड़ी आगे बढ़ती है और कांग्रेस से जुड़े लोग पकड़े जाते हैं तो कांग्रेस की कलई खुलती है.

5. कांग्रेस के पांच साल के शासन में कन्नड़ संस्कृति को समृद्ध करने वालों की जयंती नहीं मनाई गई. तुष्टिकरण की राजनीति के माध्यम से एक बार फिर कांग्रेस ने आगे बढ़ाया है और जनता के बीच में आप एक्सपोज़ हो गए हैं.

6. नरेंद्र मोदी सरकार ने तीन लाख करोड़ से ज़्यादा आवंटन कर्नाटक की जनता के लिए दिया है. इसमें कोई अहसान नहीं किया गया, ये फ़र्ज है हमारा. लेकिन मैं पूछता हूं कि जब कांग्रेस की सरकार थी तो उसने केवल 88 हज़ार करोड़ दिया था. हमने अधिकार देने का काम किया है और आपने अधिकार छीनने का काम किया था.

7. भाजपा ने तय किया है कि किसानों को समर्थन की जरूरत है. भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनते ही एक हफ़्ते के भीतर राष्ट्रीय बैंक और कोऑपरेटिव बैंक एक लाख रुपये तक के किसानों के कर्ज़ को माफ़ करने का काम करेंगे.

8. जातिवाद, वंशवाद, तुष्टिकरण की राजनीति को समाप्त कर विकास की रफ़्तार के साथ कर्नाटक में प्रदर्शन की राजनीति शुरू हो.

9. भारतीय जनता पार्टी जो फीडबैक मुझे मिला है. भाजपा को कम से कम 130 सीटें जीतेगी. कर्नाटक में किसी से समर्थन लेने का सवाल ही नहीं उठता है

10. हम चुनाव हार जाएंगे लेकिन एसडीपीआई (सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ़ इंडिया) और पीएफआई (पापुलर फ्रंट ऑफ़ इंडिया) जैसी पार्टियों का समर्थन नहीं लेंगे. उसे चुनाव जीतने के लिए देशद्रोहियों का सहारा लेने में भी कोई परहेज नहीं है.

Sharing is caring!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here