शर्मनाक घटना : भारत माता की जय बोला तो 20 छात्रों को स्कूल से निकाला

रतलाम। क्या इस देश में अब भारत माता की जय बोलना अपराध हो गया है। मध्यप्रदेश के रतलाम से एक ऐसा ही मामला सामने आया है। यहाँ के एक कान्वेंट स्कूल को भारत माता की जय के नारे लगाना बर्दाश्त नहीं हुआ। रतलाम के प्रशासन ने इस मामले पर चुप्पी साध ली है।

मध्य प्रदेश में रतलाम के एक स्कूल में भारत माता की जय बोलने पर 20 छात्रों को स्कूल से बाहर कर दिया गया और उन्हें प्रीबोर्ड की परीक्षा देने से रोक दिया गया। जानकारी मिलने पर गुस्साए परिजन स्कूल के खिलाफ थाने पहुंच गए। मामला जिले के नामली कस्बे के एक कॉन्वेंट स्कूल की है, जहां शुक्रवार को नौवीं कक्षा के छात्रों पर कॉन्वेंट स्कूल प्रबंधन ने यह कार्रवाई की थी। इसके खिलाफ परिजन थाने पर पहुंच गए। हालाकि वहां मामले को शांत करने की कोशिश की गई। लेकिन बताया जा रहा है कि बच्चों के भविष्य के डर से परिजन स्कूल प्रबंधन के आगे झुक गए हैं। वहीं इस मामले स्कूल प्रबंधन ने चुप्पी साध रखी है जबकि प्रशासन के आला अधिकारी जांच की बात कह रहे हैं।

मामला प्रदेश में तेज़ी से वायरल
यह भी बताया जा रहा है कि माइनॉरिटी का स्कूल होने की वजह से कॉन्वेंट स्कूल प्रबंधन ना तो शिक्षा विभाग के नियमों का पालन करता है और ना ही जिला प्रशासन के आदेशों का पालन करता है। ये मामला प्रदेश में तेज़ी से वायरल हो गया है। देखना है कि राज्य सरकार की ओर से इस कान्वेंट स्कूल के खिलाफ क्या कार्रवाई की जाती है।

पहले भी हो चुकी है ऐसी घटना
सन 2016 में भी मध्य प्रदेश के शहडोल जिले में एक मिशनरी स्कूल द्वारा छात्रों के भारत माता की जय के नारे लगाने पर पाबंदी लगाने का मामला सामने आया था। स्थानीय मीडिया के मुताबिक, स्कूल प्रशासन के इस फैसले के बाद बच्चों के पैरंट्स के बीच काफी नाराजगी थी। उधर स्कूल ने बताया कि मैनेजमेंट के आदेश पर यह रोक लगाई गई थी।